पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sagar News Work To Rule Movement On December 11 May Be Affected By Rail Services

वर्क-टू-रूल आंदोलन 11 दिसंबर को, प्रभावित हो सकती है रेल सेवाएं

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आल इंडिया रेलवेमैन फेडरेशन (एआईआरएफ) और वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन (डबलूसीआरईयू) ने कर्मचारियों को 11 दिसम्बर से वर्क-टू-रूल आंदोलन के लिए जागरूक करना शुरू कर दिया है।

यूनियन के उपाध्यक्ष मनोज पाण्डेय का कहना है कि रेल प्रशासन को लंबित मांगें पूरी कराने के लिए वर्क-टू-रूल आंदोलन का अल्टीमेटम दिया है। यह 10 दिसम्बर को पूरा हो रहा है। इसके बाद वर्क-टू-रूल आंदोलन शुरू कर देंगे। कर्मचारी तय समय से अधिक काम न कर रेल प्रशासन पर दबाव बनाएंगे। पाण्डेय का कहना है कि वर्क टू रूल लागू होने से रेल प्रशासन का काम बुरी तरह से बाधित होगा। क्योंकि तब कर्मचारी तय समय से अधिक काम करने से साफ इनकार कर देंगे। सचिव नवीन तिवारी व अध्यक्ष अनिल यादव का कहना है कि यूनियन लगातार कर्मचारियों के बीच में पहुंचकर उन्हें आंदोलन के संबंध में जागरूक कर रही है।

Âये हैं मांगें : पाण्डेय ने बताया कि रेलवे में लाखों पद रिक्त हैं। इस कारण कर्मचारियों को निर्धारित समय से ज्यादा काम करना पड़ता है, जबकि सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं। रेल पटरियां जर्जर हो गई हैं, ट्रेन के कोच भी काफी पुराने हो गए हैं। सिग्नल प्रणाली के आधुनिकीकरण की जरूरत है, लेकिन इन कामों के लिए सरकार आम बजट में आवश्यक धन उपलब्ध नहीं करा रही है। 1 जनवरी, 2004 के बाद नियुक्त कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम से भी वंचित कर दिया गया है। इन मांगों को लेकर आंदोलन किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...