• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sarni News
  • सीएम से रोजगार-धंधे मांगने भोपाल पहुंचे व्यापारी, सारनी को मिला तहसील का दर्जा
--Advertisement--

सीएम से रोजगार-धंधे मांगने भोपाल पहुंचे व्यापारी, सारनी को मिला तहसील का दर्जा

व्यापारियों का प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री के सामने बेरोजगारी और पलायन की समस्या रखते हुए। व्यापारी बोले आधे...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:05 AM IST
व्यापारियों का प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री के सामने बेरोजगारी और पलायन की समस्या रखते हुए।

व्यापारी बोले आधे से कम हुआ बिजनेस, पलायन को मजबूर लोग

लगातार रिटायरमेंट होने के कारण सारनी की जनसंख्या कम हो रही है। यहां का व्यापार आधे से कम हो गया है। नगरपालिका क्षेत्र सारनी के अंतर्गत बगडोना, शोभापुर, पाथाखेड़ा और सारनी कस्बे आते हैं। इन क्षेत्रों में दो बड़ी औद्योगिक संस्थान डब्ल्यूसीएल और पावर प्लांट हैं। लेकिन, यह दोनों औद्योगिक संस्था की क्षमता लगातार कम होती जा रही है। रिटायरमेंट और रोजगार के अवसर कम होने के कारण व्यापार आधा हो गया है। मिथलेश सिंह रघुवंशी ने बताया खदानें खोलने की प्रक्रिया भी 10 सालों से ज्यादा समय से चल रही है। मगर, इस पर काम नहीं हुआ। ऐसे प्रोजेक्ट जल्दी आने चाहिए। तभी सारनी का विकास होगा।

सतपुड़ा प्लांट से फिर 17 और डब्ल्यूसीएल से 9 कर्मचारी रिटायर हुए

सतपुड़ा पावर प्लांट से 17 कर्मचारी रिटायर हुए। वहीं डब्ल्यूसीएल से 9 कामगार रिटायर हुए हैं। पावर हाउस से अधीक्षण अभियंता एचके वाइकर, कार्यालय सहायक श्रेणी एक बुधराव धोटे, संयंत्र पर्यवेक्षक प्रयागराव चढ़ोकार, वरिष्ठ संयंत्र सहायक कन्हैयालाल लिल्होरे, नामदेव कापसे, महादेव पवार, कृषपाद मंडल, वामनराव मगरदे, मोतीलाल गायकवाड़, मुकुंदा उमाठे, संयंत्र सहायक हरिचंद्र मालवीय, प्रदीप कुमार मुखर्जी, दशरथ साहू, यशवंत राव देशमुख, वाहन चालक कलीमदाद खान, सिविल परिचायक रमेश राठौर के नाम शामिल हैं।

तहसील शुरू होगी, औद्योगिक विकास भी होगा नई इकाइयां आएंगी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात के दौरान व्यापारियों ने सारनी की स्थिति बताई। बड़ा नगरीय क्षेत्र होने के बाद भी यहां तहसील नहीं है। वार्ड 36 के पूर्व पार्षद दशरथ सिंह जाट ने बताया तहसील की मांग को मुख्यमंत्री ने तत्काल पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इसके अलावा नई इकाइयों को बनाने के लिए भी हामी भरी। जाट ने बताया हक की लड़ाई लड़कर जीत हासिल करेंगे।