Hindi News »Madhya Pradesh »Sarni» शासकीय अधिकारी-कर्मचारी बच्चों को गांव में ही देंगे कोचिंग, कंप्यूटर शिक्षा

शासकीय अधिकारी-कर्मचारी बच्चों को गांव में ही देंगे कोचिंग, कंप्यूटर शिक्षा

ग्रामीण विद्यार्थियों को शिक्षित करने के लिए गांव के लोग एकजुट हो गए हैं। छतरपुर गांव में रहने वाले शासकीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 08, 2018, 04:05 AM IST

ग्रामीण विद्यार्थियों को शिक्षित करने के लिए गांव के लोग एकजुट हो गए हैं। छतरपुर गांव में रहने वाले शासकीय अधिकारी, कर्मचारियों ने मिलकर इसकी व्यवस्था बनाई है। वे स्वयं के खर्च पर विद्यार्थियों को पढ़ाई और आधुनिक शिक्षा के लिए प्रेरित कर रहे हैं। यही नहीं उनके लिए कंप्यूटर भी लगाए हैं। जो विद्यार्थी बाहर जाकर कोचिंग नहीं ले सकते, छतरपुर में ही उनके लिए व्यवस्थाएं की है। यानी हर स्तर पर उन्हें मदद मिल रही है।

जनपद पंचायत छतरपुर में पंचायत के शासकीय कर्मचारियों की बैठक हुई। युवा छात्र संघ के नेता मुकेश धुर्वे ने बताया गांव के सभी शासकीय कर्मचारियों ने गांव को शिक्षित करने के लिए पहल शुरू कर दी है। जो छात्र बहार शहरों में जाकर कोचिंग नहीं पढ़ सकते हैं उनके लिए यहीं कोचिंग की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही पहली से बारहवीं तक के छात्रों के लिए कंप्यूटर शिक्षा के लिए कंप्यूटर दान किया है। इस अवसर पर गांव के फारेस्ट विभाग में पदस्थ किशोरी वरकड़े ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा की बिना लक्ष्य निर्धारण के सफलता प्राप्त नहीं की जा सकती है। सीमित सुविधाओं में सफलता के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत है। असफलता से निराश न होकर उससे प्रेरित होकर निरंतर मेहनत करनी चाहिए। इस अवसर इंजीनियर सुनील सरयाम ने कहा प्रत्येक घर के सदस्य को शिक्षित कर ही गांव का विकास हो सकता है। शिक्षित वर्ग से ही संपन्न समाज का निर्माण होगा। इसी से समाज आर्थिक, शैक्षणिक, आध्यात्मिक, धार्मिक, सामाजिक दृष्टि से मजबूत होगा। गांव में आज भी कई कुप्रथाएं हैं, यही विकास में बाधक है। बैठक में युवाओं ने गांव की समस्याओं को प्रमुखता से बताया। इस पर सभी ने अपनी राय दी। इस अवसर पर गांव के उपसरपंच देवकराम काकोडिया, विजय सरयाम, दिनेश सरयाम, सोहबत धुर्वे, दयाल सरयाम, इंद्रकुमार, मनोज,चंद्रकला, विजेता, ललिता प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×