Hindi News »Madhya Pradesh »Sarni» कांग्रेसी सीजीएम से बोले, पानी सप्लाई करना नपा के बस की बात नहीं, डब्ल्यूसीएल करे सप्लाई

कांग्रेसी सीजीएम से बोले, पानी सप्लाई करना नपा के बस की बात नहीं, डब्ल्यूसीएल करे सप्लाई

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने सोमवार को वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड पाथाखेड़ा क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 20, 2018, 04:55 AM IST

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने सोमवार को वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड पाथाखेड़ा क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं कमीशनखोरी के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस पर रोक लगाने की मांग को लेकर वरिष्ठ नेताओं ने सीजीएम उदय ए. कावले को ज्ञापन सौंपा।

ब्लॉक कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष बटेश्वर भारती ने बताया नगर पालिका परिषद सारनी, पाथाखेड़ा क्षेत्र की झुग्गी बस्तियों में पेयजल प्रदान करने में नाकाम हो चुकी है। इसलिए सीएसआर के मद से पाथाखेड़ा क्षेत्र की झुग्गी बस्तियों में पीने के पानी की व्यवस्था की जानी चाहिए। मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कंपनी द्वारा प्रखंड क्षेत्र में विद्युत प्रदाय का कार्य प्रगति पर है, लेकिन डब्ल्यूसीएल पाथाखेड़ा के बिजली विभाग के कर्मचारी क्षेत्र के व्यापारियों से जबरन घोषणापत्र ले रहे हैं, व्यापारियों को मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनी की बिजली नहीं चाहिए। जांच के आदेश जारी कर जबरन घोषणा पत्र लेना बंद करवाया जाए।

सारनी। कांग्रेसी नेता सीजीएम उदय ए. कावले को ज्ञापन सौंपते हुए।

भास्कर संवाददाता|सारनी

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने सोमवार को वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड पाथाखेड़ा क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं कमीशनखोरी के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस पर रोक लगाने की मांग को लेकर वरिष्ठ नेताओं ने सीजीएम उदय ए. कावले को ज्ञापन सौंपा।

ब्लॉक कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष बटेश्वर भारती ने बताया नगर पालिका परिषद सारनी, पाथाखेड़ा क्षेत्र की झुग्गी बस्तियों में पेयजल प्रदान करने में नाकाम हो चुकी है। इसलिए सीएसआर के मद से पाथाखेड़ा क्षेत्र की झुग्गी बस्तियों में पीने के पानी की व्यवस्था की जानी चाहिए। मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कंपनी द्वारा प्रखंड क्षेत्र में विद्युत प्रदाय का कार्य प्रगति पर है, लेकिन डब्ल्यूसीएल पाथाखेड़ा के बिजली विभाग के कर्मचारी क्षेत्र के व्यापारियों से जबरन घोषणापत्र ले रहे हैं, व्यापारियों को मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनी की बिजली नहीं चाहिए। जांच के आदेश जारी कर जबरन घोषणा पत्र लेना बंद करवाया जाए।

काेल सैंपलिंग की मशीन वारंटी पीरियड में ही खराब

कांग्रेसी नेता बेचनराम बाबूजी, बलराम, प्रशांत पांसे, राजेश सिन्हा समेत अन्य लोगों ने बताया डब्ल्यूसीएल द्वारा कोल सैंपलिंग के लिए 28 लाख रुपए के लगभग मूल्य की मशीन खरीदी थी, जो अंडर वारंटी खराब हो गई है। इसकी भी जांच की जानी चाहिए। इसमें अधिकारियों की मिली भगत से कम मूल्य की मशीन ज्यादा राशि में खरीदी है। वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड क्षेत्र के सिविल विभाग ने लगभग 6 लाख रुपए का पाइप खरीदा था। इसे प्रस्तावित स्थान पर नहीं लगाया गया। शोभापुर, सारनी खदान बंद होने की कगार पर है। बिजली-पानी आवास के क्वार्टर के रिपेयरिंग में भी धांधली की जा रही है। इसमें भी सुधार होना चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×