• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sarni News
  • जेपी ने खुद को भाजपा कार्यालय में किया बंद , बोले मंडल अध्यक्ष ने नहीं दिए रुपए तो फांसी लगा लूंगा
--Advertisement--

जेपी ने खुद को भाजपा कार्यालय में किया बंद , बोले मंडल अध्यक्ष ने नहीं दिए रुपए तो फांसी लगा लूंगा

भारतीय जनता पार्टी के सारनी मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा और उनके पड़ोसी भाजपा के ही स्थाई समिति सदस्य जेपी सिंह के बीच...

Danik Bhaskar | Feb 20, 2018, 04:55 AM IST
भारतीय जनता पार्टी के सारनी मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा और उनके पड़ोसी भाजपा के ही स्थाई समिति सदस्य जेपी सिंह के बीच रुपए के लेनदेन के विवाद ने सोमवार को नाटकीय मोड़ ले लिए। जेपी ने स्वयं को शॉपिंग सेंटर स्थित भाजपा के मंडल कार्यालय में बंद कर लिया और भीतर से ही कहा सुधा चंद्रा जब तक उनके रुपए नहीं देंगे बाहर नहीं आएंगे। यदि निकालने की कोशिश की तो वे फांसी लगा लेंगे। तीन घंटे की समझाइश के बाद उन्होंने शटर खोला।

भाजपा के सारनी मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा और जय प्रकाश सिंह के बीच कारोबार को लेकर करीब 2.35 लाख रुपए का लेनदेन हैं। जेपी ने आरोप लगाए हैं सुधा चंद्रा रुपए लौटा नहीं रहे। इसे लेकर जेपी सिंह पहले भी थाने में शिकायत कर चुके हैं। मामले में दोनों के बीच सुलह का रास्ता भी निकाला गया था। सुधा चंद्रा ने उन्हें दो चेक दिए थे, लेकिन जेपी चेक नहीं रुपए की मांग कर रहे थे। सोमवार दोपहर 1.15 बजे वे शोभापुर से सारनी पहुंचे। यहां भाजपा के कार्यालय के भीतर जाकर उन्होंने छोटा गेट और शटर दोनों बंद कर लिए। जब कार्यकर्ता पहुंचे तो उन्होंने भीतर से जोर से चिल्लाकर कहा सुधा चंद्रा से रुपए दिला दो। शाम तक रुपए नहीं मिले तो वे फांसी लगा लेंगे।

रंजीत ने दिलाया भरोसा तब खोला गेट

घटना की सूचना मिलने के बाद टीआई महेंद्र सिंह चौहान और पुलिस बल यहां पहुंच गया था। किसी अनहोनी को देखते हुए पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया। मगर वे पुलिस से नहीं माने। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के जिला मंत्री रंजीत सिंह यहां पहुंचे। उनकी समझाइश पर मामला टला नहीं। हालांकि दूसरे प्रयास में रंजीत सिंह गेट खुलवाने में कामयाब रहे। इसके बाद दोबारा पुलिस पहुंची। गेट खोलने के बाद भी जेपी कार्यालय के अंदर ही बैठे रहे। उन्होंने कहा तंगी से वे परेशान हैं। इसलिए रुपए की जरूरत है।

सारनी। कार्यालय का गेट खुलवाने का प्रयास करते रंजीत सिंह व अन्य कार्यकर्ता।

ये है पूरा मामला

स्थाई समिति के सदस्य जयप्रकाश सिंह उर्फ जेपी ने 2.35 लाख रुपए की धोखाधड़ी को लेकर पिछले दिनों लिखित शिकायत सारनी थाने में की थी। जेपी और मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा करीब पड़ोसी हैं। शोभापुर कॉलोनी के वार्ड क्रमांक 34 में रहने वाले जयप्रकाश सिंह ने बताया मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने उन्हें ठेके पर काम दिलवाने के नाम पर उनसे 2.50 लाख रुपए लिए थे। यह रुपए सारनी नगर पालिका के अधिकारी देने के नाम पर उन्होंने अप्रैल 2016 यह रुपए दिए थे। इन्हीं रुपए की वे मांग कर रहे थे।

सारनी। कार्यालय से निकलने के बाद जेपी सिंह।

जबरन दबाव बनाया जा रहा है