Hindi News »Madhya Pradesh »Sarni» भाजपा के पार्षदों ने कहा: नगर, उद्योग बचाने के लिए नपा को प्रस्ताव की जरूरत ही नहीं

भाजपा के पार्षदों ने कहा: नगर, उद्योग बचाने के लिए नपा को प्रस्ताव की जरूरत ही नहीं

नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति के प्रस्ताव को नगर पालिका परिषद की बैठक में रखे जाने को लेकर अब सवाल खड़े हो रहे हैं। दो...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 20, 2018, 04:40 AM IST

नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति के प्रस्ताव को नगर पालिका परिषद की बैठक में रखे जाने को लेकर अब सवाल खड़े हो रहे हैं। दो दिन पहले इस समिति की बैठक में भाजपा के 22 पार्षदों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित होने के बाद भाजपा आगे आई है। गुरुवार को भाजपा के पार्षदों ने कहा समिति वहां (नगर पालिका) जाकर ज्ञापन सौंप रही है, जहां से रोजगार और शहर को बचाने के कोई ठोस प्रयास नहीं होते। भाजपा सांसद, विधायक के माध्यम से काम होते तो उन्हें खबर तक नहीं की जा रही। उल्टे निंदा प्रस्ताव लिया जा रहा है।

नगर पालिका में 2 अप्रैल को परिषद के सम्मेलन में नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति की मांगों के पत्र को राज्य सरकार को भेजे जाने का प्रस्ताव रखा था। इसी बैठक का भाजपा के 22 पार्षदों ने विरोध कर दिया था। बहिष्कार के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था। सबकुछ शांत हुआ ही था, अब नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति ने परिषद की बैठक का बहिष्कार करने वाले भाजपा के 22 पार्षदों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव ले लिया। इसके खिलाफ भाजपा के नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल और भाजपा के अन्य पार्षदों ने कहा इस तरह के निंदा प्रस्ताव से कुछ नहीं होना है। भाजपा की सांसद ज्योति धुर्वे, विधायक चैतराम मानेकर और बैतूल विधायक हेमंत खंडेलवाल के प्रयासों से यहां तवा 3 और शक्तिगढ़ प्रोजेक्ट खोले जाने के लिए केंद्रीय कोयला मंत्री से मुलाकात की थी। मुख्यमंत्री ने सारनी में 660 मेगावाट की इकाई खोलने का आश्वासन दिया। सूखाढाना यानी चोरडोंगरी में औद्योगिक क्षेत्र के विकास पर काम भी शुरू हो गया। जबकि अभी तक भी कोई समिति शहर को बचाने के लिए आगे नहीं आई। भाजपा और इसके जनप्रतिनिधि उद्योग और शहर बचाने के लिए संकल्पित हैं।

छुटभैया नेता कारोबार चलाने लगा रहे आरोप, जवाब देना जरूरी

नगर पालिका उपाध्यक्ष भीमबहादुर थापा, पार्षद बंडू माकोड़े, अनिल वराठे, नागेंद्र निगम, सपना महस्की समेत अन्य ने बताया नगर पालिका के स्तर का प्रस्ताव ही नहीं था। बैठक का बहिष्कार बजट की कॉपी पहले नहीं देने के विरोध में हुआ था। नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति के प्रस्ताव का तो कोई मसला ही नहीं था। उन्होंने कहा भाजपा जनता के हित के कार्य कर रही है। सारनी में 90 करोड़ की नल जल योजना, 3.5 करोड़ की बिजली योजना पर काम हो रहा है। छुटभैया नेता अपना कारोबार चलाने भाजपा पर आरोप लगा रहे हैं। इसलिए जवाब देना जरूरी है।

सारनी। पुलिस थाना सारनी में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने बदनाम किए जाने के खिलाफ ज्ञापन सौंपा।

किसी का सहयोग नहीं, फिर भी जारी रहेगी लड़ाई

नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति के संयोजक, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कृष्णा मोदी और उनकी टीम ने इस मामले में कहा सारनी शहर में सर्वे के बाद उन्हें आंदोलन में नहीं के बराबर सहयोग मिला है। भाजपा के पार्षदों ने भी नपा में बहिष्कार कर तय कर दिया वे समिति के साथ नहीं हैं। कोई साथ हो या न हो, लड़ाई जारी रहेगी। खदानें, यूनिटें और औद्योगिक क्षेत्र का विकास क्या कागजों में हो रहा है। जमीनी स्तर पर यह नजर क्यों नहीं आ रहा।

पार्षदों काे बदनाम करने वाले भूषण पर केस दर्ज करने की मांग

नगर पालिका के नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल ने कहा नगर पालिका अध्यक्ष के प्रवक्ता भूषण कांति ने समाचार पत्रों के माध्यम से भाजपा पार्षदों को बदनाम करने की कोशिश की है। गुरुवार को भाजपा के जिला मंत्री रंजीत सिंह, मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा और अन्य पार्षदों के साथ उन्होंने थाने में जाकर मामले की शिकायत की। उन्होंने कहा भाजपा पार्षदों की रोजी-रोटी नगर पालिका के कारण चल रही है। जो बंद होने से वे तिलमिला रहे हैं। इस तरह की अनर्गल टिप्पणी की है। यह पूरी तरह से अनुचित है। उन्होंने मांग की भूषण कांति पर कड़ी कार्रवाई हो। या तो वे साबित करें, किस तरह भाजपा पार्षदों की रोजी- रोटी चल रही थी। तीन दिनों में ठोस कार्रवाई नहीं होने पर भाजपा नेताओं ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×