• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sarni
  • कागजों में विकास कर रहा सत्तारूढ़ दल, उजड़ते शहरों से मतलब ही नहीं : मोनिका
--Advertisement--

कागजों में विकास कर रहा सत्तारूढ़ दल, उजड़ते शहरों से मतलब ही नहीं : मोनिका

Dainik Bhaskar

May 08, 2018, 04:55 AM IST

Sarni News - सारनी| महिला कांग्रेस की जिला उपाध्यक्ष और आमला की कांग्रेस नेत्री मोनिका निरापुरे ने कहा सत्तारूढ़ दल को उजड़ते...

कागजों में विकास कर रहा सत्तारूढ़ दल, उजड़ते शहरों से मतलब ही नहीं : मोनिका
सारनी| महिला कांग्रेस की जिला उपाध्यक्ष और आमला की कांग्रेस नेत्री मोनिका निरापुरे ने कहा सत्तारूढ़ दल को उजड़ते शहरों से कोई मतलब नहीं है। उनके सारे विकास कागजों में हो रहे हैं। जिस तरह मुख्यमंत्री की घोषणाएं कोरी होती हैं, वैसे ही नेताओं के वादे अधूरे रहते हैं। जनता को वोट बैंक के रूप में उपयोग किया जाता रहा है। ना कोई ठोस योजना ना कोई विकास का प्लान। वे उद्योग बचाओ, नगर बचाओ समिति की क्रमिक भूख हड़ताल के समर्थन में जय स्तंभ पर सभा को संबोधित कर रही थीं। उद्योग बचाओ, नगर बचाओ समिति की क्रमिक भूख हड़ताल लगातार 7वें दिन भी जारी रही। श्रीमती निरापुरे ने कहा देश की स्वतंत्रता में अहम भूमिका निभाने वाले 88 वर्षीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कामरेड कृष्णा मोदी के दम पर आंदोलन चल रहा है। लड़ाई बेकार नहीं जाएगी। हड़ताल के सातवें दिन सामाजिक कार्यकर्ता राहुल पाटील, अनुकंपा आश्रित गजेंद्र जावरे, प्रशांत पंडाग्रे भूख हड़ताल पर बैठे। इस आंदोलन को इंटक यूनियन का समर्थन देने दामोदर प्रसाद मिश्रा, आशिक खान, निजात खान, धनराज देशमुख पहुंचे। लगातार इस जनहित के मुद्दों पर सभी बुद्धिजीवी, सामाजिक संगठनों, कर्मचारियों यूनियनों, छात्र संगठनों का समर्थन मिल रहा है। संयोजक कृष्ण मोदी, रामा वाईकर, राकेश महाले ने कहा इस आंदोलन को सात दिन हो गए हैं। शासन प्रशासन की ओर से आंदोलनकारियों से पूछ परख करने कोई नहीं आया। सोमवार को धरना स्थल पर बगडोना व्यापारी संघ के प्रमोद दरवाई, भूपेश साबले, मिथिलेश सिंह रघुवंशी, राजा जैन उपस्थित हुए।

X
कागजों में विकास कर रहा सत्तारूढ़ दल, उजड़ते शहरों से मतलब ही नहीं : मोनिका
Astrology

Recommended

Click to listen..