Home | Madhya Pradesh | Sarni | व्यापारियों की पहल पर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का पानी पहुंचा बगीचे में, अब नहीं सूखेंगे पेड़-पौधे

व्यापारियों की पहल पर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का पानी पहुंचा बगीचे में, अब नहीं सूखेंगे पेड़-पौधे

शॉपिंग सेंटर में लगे दोनों बगीचे हर साल गर्मी के दिनों में सूख ही जाते हैं। यहां पौधों को पानी देने की कोई ठोस...

Bhaskar News Network| Last Modified - Apr 11, 2018, 05:00 AM IST

व्यापारियों की पहल पर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का पानी पहुंचा बगीचे में, अब नहीं सूखेंगे पेड़-पौधे
व्यापारियों की पहल पर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का पानी पहुंचा बगीचे में, अब नहीं सूखेंगे पेड़-पौधे
शॉपिंग सेंटर में लगे दोनों बगीचे हर साल गर्मी के दिनों में सूख ही जाते हैं। यहां पौधों को पानी देने की कोई ठोस व्यवस्था नहीं होने के कारण यह स्थिति बनती थी, लेकिन इस बार व्यापारी संघ की पहल पर गणतंत्र दिवस पर इसे सुधारा गया था। अब बगीचे को मेंटेन रखने के लिए यहां सीवर ट्रीटमेंट प्लांट की पाइप लाइन बिछाई जा रही है। इससे पूरी सीजन 24 घंटे पानी मिलेगा।

शॉपिंग सेंटर में दो स्थानों पर पावर जनरेटिंग कंपनी ने बगीचे बनाए हैं। यहां पानी की सुविधा नहीं होने के कारण बगीचों के पौधे सूख जाते हैं। सतपुड़ा व्यापारी संघ ने शॉपिंग सेंटर में एक बगीचे का कायाकल्प किया था। अब इसे मेंटेन रखना जरूरी है। इसके लिए मंगलवार को सीवर ट्रीटमेंट प्लांट से निकलने वाले साफ पानी की पाइप लाइन से जोड़ा गया। व्यापारी संघ अध्यक्ष विनय मालवीय ने बताया इस पाइप लाइन के जुड़ जाने से बगीचे में भरपूर पानी रहेगा। वैसे ही यह पानी वेस्ट बह रहा है। न्यू शॉपिंग सेंटर के बगीचे तक भी उक्त पाइप लाइन बिछाने की तैयारी है। इससे दोनों बगीचों में पानी मिल जाएगा। इसके अलावा व्यापारियों को बाहरी उपयोग के लिए पानी के टैब भी मिल सकेंगे।

सारनी। बगीचे में पानी पहुंचाने के लिए पाइप लाइन डालने हेतु खुदाई करते हुए।

डिवाइडर के पौधे सूख रहे, नपा का ध्यान नहीं

फोरलेन के डिवाइडर पर लगे पौधों पर नगर पालिका का ध्यान नहीं है। गर्मी की शुरुआत में ही ये पौधे सूखने लगे हैं। बगडोना और सारनी में लगे ये पौधे सूख रहे हैं। जबकि इसकी देखरेख के लिए नपा ने बाकायदा ठेका दे रखा है। इसके अलावा बगडोना में कई गमले टूट भी गए हैं। इससे सौंदर्यीकरण प्रभावित हो रहा है। इसे लेकर पहले ही पार्षद पहले ही शिकायत कर चुके हैं। हालांकि सीएमओ पवन राय ने बताया पेयजल संकट की स्थिति है, फिर भी पौधों की देखरेख की जाएगी।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now