• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sarni News
  • सप्लायरों से नहीं हुआ एग्रीमेंट, 6 टैंकरों से 36 वार्डों में नहीं हो पा रही पानी की सप्लाई
--Advertisement--

सप्लायरों से नहीं हुआ एग्रीमेंट, 6 टैंकरों से 36 वार्डों में नहीं हो पा रही पानी की सप्लाई

शहर में पेयजल संकट भीषण स्थिति में आ गया है। हालत यह है टैंकरों से भी पानी की पूर्ति नहीं हो पा रही है। नगर पालिका ने...

Dainik Bhaskar

Apr 07, 2018, 05:05 AM IST
सप्लायरों से नहीं हुआ एग्रीमेंट, 6 टैंकरों से 36 वार्डों में नहीं हो पा रही पानी की सप्लाई
शहर में पेयजल संकट भीषण स्थिति में आ गया है। हालत यह है टैंकरों से भी पानी की पूर्ति नहीं हो पा रही है। नगर पालिका ने पेयजल परिवहन के लिए टेंडर कर दिए हैं। मगर, नपा और ठेकेदारों के बीच अभी एग्रीमेंट नहीं हुआ। इससे पुरानी व्यवस्था पर ही पानी सप्लाई हो रहा है। जबकि शहर के 36 वार्डों में ये व्यवस्था अब नाकाफी हाे रही है। हालत यह है ठेकेदारों ने एग्रीमेंट करने संबंधित कागजात ही अभी तक जमा नहीं किए हैं।

शहर के वार्डों में पानी पहुंचाने के लिए नपा के पास कोई पेयजल नेटवर्क नहीं है। केवल टैंकरों के भरोसे पानी की सप्लाई हो रही है। नपा के चार और प्राइवेट दो, इस तरह 6 टैंकरों से 36 वार्डों में पानी पहुंंचाया जा रहा है। मार्च महीने में ही नगर पालिका ने पानी सप्लाई के लिए करीब 30 लाख रुपए के टेंडर किए। दो टैंकर संचालकों ने इसके टेंडर लिए हैं। अब करीब एक सप्ताह बीतने के बाद भी एग्रीमेंट नहीं हुआ है। तीन दिनों पहले प्राइवेट टैंकर बंद होने से शहर में हा-हाकार मच गया था। अब स्थिति और भी खराब है। एग्रीमेंट के लिए जरूरी कागजात जमा नहीं होने के कारण एग्रीमेंट की कार्रवाई नहीं हुई है। जब तक एग्रीमेंट नहीं होगा, तब तक पानी सप्लाई की व्यवस्था सुधारने वाली नहीं है।

टैंकरों की जांच रिपोर्ट, पानी के स्रोत बताना होगा ठेकेदार को: नगर पालिका इस बार पानी की शुद्धता और टैंकरों की स्थिति को लेकर सजग हैं। टैंकरों की जांच रिपोर्ट और पानी के स्रोत ठेकेदार को ही बताने होंगे। नगर पालिका ने इसके लिए एग्रीमेंट में शर्तें रखी हैं। इसी आधार पर नपा और ठेका कंपनी के बीच एग्रीमेंट हाेगा। ठेकेदार नगर पालिका के कुएं से पानी लेकर सप्लाई नहीं कर सकेगा। उसे खुद का पेयजल स्रोत या कोई किराए का स्रोत लेना होगा। सप्लाई किए जाने वाले पानी की पीएच वेल्यू सहित शुद्धता संबंधित अन्य मापदंडों पर इसे खरा उतरना होगा।

एक-दो दिनों में कर लेंगे कार्रवाई


इधर, पाथाखेड़ा के सुभाष नगर की टंकी को तोड़ने का काम शुरू, सुरक्षित किया हिस्सा

सारनी। पाथाखेड़ा के सुभाष नगर की जर्जर पानी की टंकी को गिराने का काम शुक्रवार से डब्ल्यूसीएल ने शुरू कर दिया है। आस-पास झुग्गी क्षेत्र होने के कारण दिक्कतें जरूर हो रही हैं, लेकिन इस हिस्से का आवागम बंद कर दिया है। डब्ल्यूसीएल के अधिकारियों ने बताया टंकी जर्जर होने से अनुपयोगी है। बड़ी परेशानी यह है रिहायशी क्षेत्र में होने के कारण ये कभी भी गिर सकती हैं। इसलिए सीजीएम उदय ए. कावले ने इसे तत्काल डिस्मेंटल करने के निर्देश जारी किए थे। इसे गंभीरता से लेते हुए काम शुरू किया है। नगर पालिका और पुलिस की मदद भी ली जा रही है। चारों ओर बांस लगाकर टंकी को धीरे-धीरे जमींदोज किया जा रहा है।

X
सप्लायरों से नहीं हुआ एग्रीमेंट, 6 टैंकरों से 36 वार्डों में नहीं हो पा रही पानी की सप्लाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..