--Advertisement--

डब्ल्यूसीएल के बंद पड़े दो बोर में 12-15 मीटर पर मिला पानी

सारनी| पानी संकट और स्रोतों का जलस्तर घटने से चिंतित नपा को कुछ सुकून मिला है। डब्ल्यूसीएल के बंद पड़े पांच...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 05:15 AM IST
सारनी| पानी संकट और स्रोतों का जलस्तर घटने से चिंतित नपा को कुछ सुकून मिला है। डब्ल्यूसीएल के बंद पड़े पांच ट्यूबवेल में से दो में 12 से 15 मीटर के बीच पानी मिला है। यानी ये ट्यूबवेल चल सकते हैं। नपा और डब्ल्यूसीएल की टीम ने शुक्रवार देर रात तक सर्वे किया। इन दो ट्यूबवेलों के पानी को टेस्टिंग के लिए पीएचई की लैब भेजा है। यदि ये गुणवत्ता पर खरे उतरते हैं तो पानी सप्लाई आसान हो जाएगी।

नगर पालिका के कुएं का पानी कम होने के बाद नपाध्यक्ष आशा भारती और सीएमओ पवन राय ने डब्ल्यूसीएल से चर्चा की। सीजीएम उदय ए कावले से चर्चा के बाद नपाध्यक्ष ने नपा के टैंकर डब्ल्यूसीएल फिल्टर प्लांट से भरने देने की मांग रखी थी, लेकिन इसे लेकर प्रबंधन ने इनकार कर दिया। डब्ल्यूसीएल की सप्लाई के लिए ही पानी कम पड़ रहा है। इसलिए पांच बंद पड़े बोर देने की पेशकश सीजीएम श्री कावले ने रखी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..