--Advertisement--

शुरू होते ही बंद हो गई प्लांट की 9 नंबर इकाई

सतपुड़ा पावर प्लांट की 210 मेगावाट क्षमता वाली 9 नंबर इकाई शुरू होने के 12 घंटे के भीतर ही बंद हो गई। इकाई में बड़ा...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 05:20 AM IST
शुरू होते ही बंद हो गई प्लांट की 9 नंबर इकाई
सतपुड़ा पावर प्लांट की 210 मेगावाट क्षमता वाली 9 नंबर इकाई शुरू होने के 12 घंटे के भीतर ही बंद हो गई। इकाई में बड़ा इलेक्ट्रिकल फाल्ट आ गया। बुधवार सुबह इसे बंद कर दिया। सुधार में समय लग सकता है। दूसरी परेशानी 6 नंबर इकाई के बंद होने से है। कोयले की कमी से जूझ रहे प्लांट की 2 इकाइयां बंद होने से उत्पादन घट गया।

सतपुड़ा पावर प्लांट की 210 मेगावाट क्षमता वाली 9 नंबर इकाई 24 अगस्त 17 को जनरेटर ट्रांसफार्मर जलने के कारण बंद हो गई थी। इसके बाद ट्रांसफार्मर सुधरकर आया। काफी दिनों तक इलेक्ट्रिकल क्लियरेंस के चक्कर में काम रुका रहा। मंगलवार देर रात 10 बजे इकाई उत्पादन देने लगी। इसका लोड धीरे-धीरे बढ़ाया जा रहा था। इसे कुल क्षमता पर लाया जाना था, लेकिन इससे पहले ही बुधवार सुबह 10 बजे इकाई में जनरेटर के अर्थ में समस्या आ गई। इसके बाद इकाई बंद हो गई। 6 नंबर इकाई पहले से ही ट्यूब लीकेज से बंद है। पावर प्लांट में कोयले की कमी भी है। यार्ड में कुल मिलाकर 44 हजार मीट्रिक टन ही कोयला बचा है। इससे उत्पादन पर भी असर पड़ रहा है। यही कारण है 7 और 8 नंबर इकाइयों को क्षमता से कम लोड पर चलाया जा रहा है। हालांकि 10 और 11 नंबर इकाई को पूरी क्षमता पर चलाया जा रहा है। शाम को प्लांट का उत्पादन करीब 650 मेगावाट था।

सतपुड़ा प्लांट के कन्वेयर बेल्ट से इस तरह दिन भर उड़ती रही कोल डस्ट।

कन्वेयर बेल्ट से दिन भर स्टेट हाईवे पर उड़ी कोल डस्ट, लोग परेशान

सतपुड़ा पावर प्लांट की 10 और 11 नंबर इकाइयों में कोयला सप्लाई करने वाले कन्वेयर बेल्ट से बुधवार को दिन भर कोल डस्ट उड़ी। प्लांट के किनारे से गुजरे स्टेट हाईवे पर इससे आवागमन प्रभावित रहा। कन्वेयर को लिंक करने वाले टॉवर से यह डस्ट जबरन उड़ाई जा रही थी। अक्सर सफाई के दौरान ठेकेदार ऐसे करते हैं। मामले की शिकायत दोपहर में शहर के लोगों ने चीफ इंजीनियर से की। राख का उड़ना तो आम बात है, लेकिन कोयले की ठोस डस्ट से लोगों को बेहद परेशानी हुई।

X
शुरू होते ही बंद हो गई प्लांट की 9 नंबर इकाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..