• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sarni News
  • सतपुड़ा पावर प्लांट में एक दिन का कोयला बचा, संकट में बिजली उत्पादन, अब इकाइयों का लोड कम किया
--Advertisement--

सतपुड़ा पावर प्लांट में एक दिन का कोयला बचा, संकट में बिजली उत्पादन, अब इकाइयों का लोड कम किया

सतपुड़ा पावर प्लांट कोयले के भारी संकट से गुजर रहा है। क्रिटिकल कोल पोजीशन घोषित कर मांग होने के बाद भी इकाइयों को...

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 05:55 AM IST
सतपुड़ा पावर प्लांट कोयले के भारी संकट से गुजर रहा है। क्रिटिकल कोल पोजीशन घोषित कर मांग होने के बाद भी इकाइयों को कम लोड पर चलाया जा रहा है। यदि शुक्रवार को कोयला नहीं आता है तो इकाइयां बंद करनी पड़ सकती हैं। हालांकि रेल मार्ग से कोयला आने की उम्मीदें जताई जा रही है। फिलहाल पांच इकाइयों से 900 मेगावाट उत्पादन लिया जा रहा है।

पावर प्लांट में रोज 16 हजार मीट्रिक टन कोयले की जरूरत पड़ रही है। जबकि कोल यार्ड में स्टॉक महज 24 हजार मीट्रिक टन बचा है। इस हालत में पावर प्लांट को चला पाना मुश्किल हो रहा है। स्थानीय खदानों से कम कोयला मिलने के कारण पिछले छह महीने से यह स्थिति बनी हुई है। सुधार के लिए उपाय भी किए गए, लेकिन ये नाकाफी हैं। पावर प्लांट में मोहन कॉलरी से कोयला लाया जा रहा है, लेकिन फिर भी पूर्ति नहीं हो रही है। प्लांट में दो ही दिनों का कोयला बचा है। क्रिटिकल कोल पोजीशन के कारण 6, 7, 8 नंबर की इकाइयों का लोड 150 मेगावाट (प्रत्येक इकाई) कर दिया है। पीआरओ वीसी टेलर ने बताया रेल मार्ग से शुक्रवार को कोयला आने की उम्मीद है। इसके बाद लोड बढ़ेगा। यदि किसी कारणवश कोयला नहीं आता तो परेशानी बढ़ जाएगी।

9 नंबर इकाई का इलेक्ट्रिकल क्लियरेंस मिला, आज हो सकती है लाइट अप: पावर प्लांट की 210 मेगावाट क्षमता वाली 9 नंबर इकाई का इलेक्ट्रिकल क्लियरेंस मिल गया है। यदि सब कुछ सही रहा तो शुक्रवार को इकाई को लाइट अप किया जा सकता है। हालांकि इसकी आधिकारिक कोई ठोस जानकारी नहीं है। इकाई 9 महीने से भी ज्यादा समय से बंद है। पीआरओ वीसी टेलर ने बताया क्लियरेंस मिलने की जानकारी मिली है। यदि आर्डर मिल गए हैं तो इसे शुक्रवार को लाइट अप किया जाएगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..