• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sarni News
  • अब सभी कर सकेंगे नपा के मंगल भवन का उपयोग, नपा मामूली शुल्क पर किराए पर देगी
--Advertisement--

अब सभी कर सकेंगे नपा के मंगल भवन का उपयोग, नपा मामूली शुल्क पर किराए पर देगी

जिस समाज के नाम पर बना भवन उसे मिलेगी प्राथमिकता, सफाई और प्रतिदिन किराया तय किया भास्कर संवाददाता| सारनी शहर...

Danik Bhaskar | Apr 23, 2018, 06:00 AM IST
जिस समाज के नाम पर बना भवन उसे मिलेगी प्राथमिकता, सफाई और प्रतिदिन किराया तय किया

भास्कर संवाददाता| सारनी

शहर में नगर पालिका द्वारा बनाए गए आधा दर्जन से ज्यादा सामुदायिक कम मंगल भवनों को लेकर समाजों के स्तर पर कई विवाद सामने आए। कुछ समाजों ने इनका किराया वसूल करना शुरू कर दिया था। विरोध के बाद नपा ने इसके लिए नए नियम बनाए हैं। नपा के पास शहर में 6 मंगल भवन और चार से ज्यादा लॉन हैं। मंगल भवन मामूली किराए पर मिलेंगे तो लान मुफ्त रहेंगे।

नपा ने शहर में विभिन्न समाजों की मांग पर सामुदायिक कम मंगल भवनों का निर्माण किया। बनाने के बाद नपा ने इन्हें संबंधित समाजों को ही सौंप दिया। मगर, इसके बाद कुछ समाज इसका दुरुपयोग कर रहे थे। किसी अन्य समाज को भवन नहीं मिलता था। दिया भी जाता था तो महंगे किराए पर। शिकायतें आने के बाद नपा को अपने नियमों में बदलाव करना पड़ा। भवन नगर पालिका के स्वामित्व में ही रहेंगे, लेकिन इनकी देखरेख संबंधित समाज करेगा। नपा में आवेदन करने पर भवन किराए पर उपलब्ध होगा। इसका न्यूनतम किराया 1 हजार रुपए प्रतिदिन रखा है। इसके अलावा सफाई के लिए 500 रुपए अलग से लिए जाएंगे। यानी अब सारे समाज के लोगों को शादी व अन्य कार्यक्रमों के लिए ये भवन आसानी से उपलब्ध हो जाएंगे। हालांकि नियम में शिथिलता रखते हुए नगर पालिका ने जिस समाज के लिए भवन का निर्माण किया है उसे प्राथमिकता देने की बात रखी है।


मठारदेव बाबा मंदिर में और बढ़ेगा भवन का दायरा

सबसे ज्यादा उपयोग नगर पालिका के मठारदेव बाबा मंदिर के मंगल भवन का होता है। बेहतर लोकेशन और मंदिर होने के कारण यहां लोग ज्यादा कार्यक्रमों के लिए इसे बुक कराते हैं। इसकी बेहतर देखरेख भी हो रही है। अब नगर पालिका इसे दो मंजिला करने की तैयारी में है। इसके पास मठारदेव मंदिर की रिटरर्निंगवाल से बड़ा हाल भी बनाया जाएगा। बारिश के दिनों में यह काफी उपयोगी होगा। नगर पालिका इसके लिए मठारदेव बाबा मेला समिति से चर्चा कर रही है।