• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sarni
  • डब्ल्यूसीएल अस्पताल में उल्टी-दस्त के मरीज बढ़े
--Advertisement--

डब्ल्यूसीएल अस्पताल में उल्टी-दस्त के मरीज बढ़े

सारनी। डब्ल्यूसीएल अस्पताल में काफी संख्या में उल्टी-दस्त के मरीज भर्ती हैं।

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 06:15 AM IST
डब्ल्यूसीएल अस्पताल में उल्टी-दस्त के मरीज बढ़े
सारनी। डब्ल्यूसीएल अस्पताल में काफी संख्या में उल्टी-दस्त के मरीज भर्ती हैं।



भास्कर संवाददाता| सारनी

वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड पाथाखेड़ा के एरिया अस्पताल में उल्टी-दस्त पीड़ित मरीजों की संख्या में अचानक इजाफा हुआ है। इसे लेकर डब्ल्यूसीएल प्रबंधन सकते में है। पिछले दाे-तीन दिनों में थाेक में मरीज यहां पहुंचे हैं। इसमें ज्यादातर मरीज शाेभापुर कॉलोनी क्षेत्र के हैं। आशंका है दूषित पानी सप्लाई से एेसा हुअा हा़े। प्रबंधन उपचार में जुटा है।

अस्पताल में उल्टी दस्त से पीड़ित मरीजों ने बताया पीने के पानी के कारण ऐसा हो रहा है। जबकि पीड़ित मरीजों की संख्या एक दो नहीं दर्जनों है। उन्हें उपचार के नाम पर केवल खानापूर्ति करने वाली सुविधाएं ही नसीब हो रही है। अस्पताल में गिने चुने कूलर लगे हैं। इसमें भी कई में पानी नहीं है। रात में जिस डॉक्टर की ड्यूटी थी, वे अस्पताल परिसर में नहीं मिले। इससे मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। केवल तीन तीन नर्सों के भरोसे पूरा अस्पताल संचालित हो रहा था। जबकि मरीजों की सुविधा के लिए वेलफेयर कमेटी द्वारा अस्पताल के रख-रखाव एवं अन्य चीजों को लेकर लाखों रुपए का आवंटन किया जाता है। इसके बाद भी क्षेत्रीय अस्पताल में अव्यवस्थाएं हैं। उलटी-दस्त फैलने के बाद प्रबंधन ने पानी और अन्य व्यवस्थाओं के जांच के आदेश दिए हैं। सीजीएम उदय कावले ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मिलिंद माेघे के साथ बैठक कर मरीजों की स्थिति की जानकारी ली।

नाली से गुजरी पाइप लाइन से हा़े सकता है पानी खराब

पाथाखेड़ा और शाेभापुर कॉलोनी में डब्ल्यूसीएल की पाइप लाइन नालियों से होकर गुजरी है। आशंका जतार्इ जा रही है इसी से पानी दूषित हा़े रहा हा़े। क्योंकि डब्ल्यूसीएल के फिल्टर प्लांट से पानी बेहतर तरीके से ट्रीट कर बांटा जाता है। इसलिए रूट में गड़बड़ी की आशंका जतार्इ जा रही है।

X
डब्ल्यूसीएल अस्पताल में उल्टी-दस्त के मरीज बढ़े
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..