• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sarni News
  • बिछुआ में मूलभूत सुविधा की कमी जमीन लगी धंसने, आ गई दरारें
--Advertisement--

बिछुआ में मूलभूत सुविधा की कमी जमीन लगी धंसने, आ गई दरारें

ग्राम पंचायत शोभापुर के बिछुआ गांव में मूलभूत सुविधा नहीं मिलने से ग्रामीण परेशान हैं। सतपुड़ा जलाशय निर्माण के...

Danik Bhaskar | Apr 08, 2018, 06:50 AM IST
ग्राम पंचायत शोभापुर के बिछुआ गांव में मूलभूत सुविधा नहीं मिलने से ग्रामीण परेशान हैं। सतपुड़ा जलाशय निर्माण के दौरान ग्रामीणों को विस्थापित किया था। विस्थापित हुए परिवारों को जिस स्थान पर बसाया गया वहां पानी, सड़क सहित अन्य की कोई व्यवस्था नहीं की। अब ग्रामीणों ने समस्या का समाधान नहीं होने पर आंदोलन करने का निर्णय लिया है।

युवा आदिवासी नेता लक्ष्मण नर्रे ने बताया 1964 में सतपुड़ा जलाशय के निर्माण में जमीन डूब में जाने से मप्र पावर जनरेटिंग कंपनी ने परिवारों को यहां विस्थापित किया था। विस्थापित होने को 54 साल बाद भी किसी को भी भूमि का मालिकाना हक के लिए पट्टे वितरित नहीं किए हैं। आज तक सड़क का निर्माण भी नहीं हुआ है। जिससे बारिश में परेशानी का सामना करना पड़ता है। पूर्व जनपद सदस्य कुंवरलाल कुमरे ने बताया जिस जगह पर बसाया है वह जमीन अंदर से खोखली है। मकानों के आसपास जमीन में दरारें आ गईं हैं। 1996 में जमीन में दरारें पड़ने पर डब्ल्यूसीएल कंपनी ने भराव कराया था। अब दोबारा जमीन में बड़ी-बड़ी दरारें आ गईं हैं। जिस स्थान पर दरारें हैं उसके आस-पास ग्रामीणों के मकान हैं। समय रहते सुधार नहीं किया तो जनहानि हो सकती है। ग्रामीण संतोष नर्रे, रामदास नर्रे, ज्ञान सिंह नर्रे, बिंदिया बाई, रूकमा बाई, बबिता बाई, अशोक नर्रे दिलीप कुमार, अजित नर्रे आदि ने बताया गांव में पेयजल समस्या बनी हुई है। छह हैंडपंप में से तीन में दूषित पानी आता है। शेष तीन हैंडपंप सूख गए हैं। ग्रामीणों का कहना है उनकी समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। समस्या का समाधान नहीं होने पर आंदोलन किया जाएगा।

सारनी। ग्राम बिछुआ में धंसकने लगी जमीन।