--Advertisement--

ग्राम भारती महिला मंडल सोसाइटी को मिले 3.70 लाख रुपए

ग्राम भारती महिला मंडल साख सहकारी समिति से लोन लेने बाद राशि नहीं लौटाने वाली महिला के खिलाफ कोर्ट में केस फाइल...

Danik Bhaskar | Apr 25, 2018, 07:50 AM IST
ग्राम भारती महिला मंडल साख सहकारी समिति से लोन लेने बाद राशि नहीं लौटाने वाली महिला के खिलाफ कोर्ट में केस फाइल किया था। कोर्ट ने चेक बाउंस मामले में लोक अदालत में आखिरी समझौते में दोषी पक्ष ने 3.70 लाख की राशि का भुगतान कर दिया।

ग्राम भारती महिला मंडल ने महिलाओं की सहायता के लिए सोसाइटी का गठन किया था। इसकी 40 महिलाएं प्रतिमाह 100 रुपए जमा करतीं हैं। सोसाइटी सदस्य निर्मला बैजनाथ वर्मा ने पुत्र सामंत वर्मा को गारंटर बनाकर 4.25 लाख रुपए का लोन लिया था। इसमें 1.25 लाख की राशि उन्होंने लौटा दी, लेकिन शेष 3 लाख रुपए नहीं लौटाने की बात कही। सोसाइटी की महिलाओं ने कहा संस्था के पूरे रुपए मिलने चाहिए। इसके बाद उनके द्वारा दिए गए चेक बैंक में लगाए वे बाउंस हो गए। धारा 138 के तहत केस किया। केस में सोसाइटी की जीत हुई। कोर्ट ने खर्च समेत 3.70 लाख रुपए देने के आदेश जारी किए। बैतूल में लोक अदालत के दौरान प्रकरण समझौते के लिए रखा। इसमें निर्मला वर्मा ने संस्था को 3.70 लाख दे दिए। संस्था की अध्यक्ष भारती अग्रवाल ने बताया सत्य और कानून की जीत हुई।