Hindi News »Madhya Pradesh »Sarni» शॉपिंग सेंटर मेन रोड पर वाहनों की टक्कर ट्रैफिक जाम के बाद भी नहीं सुधारी व्यवस्था

शॉपिंग सेंटर मेन रोड पर वाहनों की टक्कर ट्रैफिक जाम के बाद भी नहीं सुधारी व्यवस्था

शहर की एकमात्र प्रमुख रोड पर ट्रैफिक चलने लायक नहीं है। वाहनों की टक्कर, ट्रैफिक जाम तक तो बातें ठीक थी, लेकिन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 25, 2018, 07:50 AM IST

शॉपिंग सेंटर मेन रोड पर वाहनों की टक्कर ट्रैफिक जाम के बाद भी नहीं सुधारी व्यवस्था
शहर की एकमात्र प्रमुख रोड पर ट्रैफिक चलने लायक नहीं है। वाहनों की टक्कर, ट्रैफिक जाम तक तो बातें ठीक थी, लेकिन सोमवार को वाहन द्वारा केंद्रीय विद्यालय के बच्चे को टक्कर मारने की घटना के बाद यहां सुधार की दरकार है। मगर, प्रशासन, प्रबंधन और नगर पालिका का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। दो बड़ी समस्या इस सड़क पर है। एक तो केंद्रीय विद्यालय की बसें खड़ी रहती हैं। दूसरी बड़ी समस्या सड़कों पर लगने वाली गुजरी (रोज लगने वाला बाजार) से होती है।

सोमवार दोपहर में केंद्रीय विद्यालय की छुट्टी होने के बाद बच्चे सड़क क्रास कर गाड़ियों की ओर आ रहे थे तभी एक कार ने बच्चे काे टक्कर मार दी। गंभीर घायल बच्चे को पावर जनरेटिंग कंपनी के अस्पताल में भर्ती किया है। पुलिस ने कार चालक पर मामला कायम किया। मगर, केस दर्ज करना अकेला समाधान नहीं है। स्कूल की छुट्टी के समय अक्सर यहां यही हालत रहते हैं। दूसरी समस्या सड़क पर लगने वाली गुजरी है। इससे भी ट्रैफिक जाम होता है। शॉपिंग सेंटर और शहर को जोड़ने वाली एकमात्र सड़क होने और इस पर ट्रैफिक को लेकर यह स्थिति होने से लोग परेशान हैं। ना तो पावर जनरेटिंग कंपनी ने कोई उपाय किए, ना नगर पालिका और ट्रैफिक सुधारने के लिए पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई की।

जय स्तंभ चौराहे पर सब्जी बाजार लगने के बाद रोज इसी तरह जाम की स्थिति निर्मित होती है।

समस्या 1: केंद्रीय विद्यालय की बसों की सड़क पर पार्किंग

केंद्रीय विद्यालय में सारनी, पाथाखेड़ा, शोभापुर और बगडोना क्षेत्र के बच्चे अध्ययनरत हैं। इन्हें लाने-ले जाने के लिए डब्ल्यूसीएल, पावर जनरेटिंग कंपनी की बसें चलती हैं। इसके अलावा प्राइवेट बसों से भी बच्चे स्कूल आते हैं। फिलहाल दोपहर 12.30 बजे स्कूल की छुट्टी होती है। इस समय स्थिति गड़बड़ा जाती है। बसें सड़क किनारे खड़ी रहती हैं। बच्चे राेड क्रास कर बसों में जाते हैं। हालांकि यहां तैनात गार्ड इन पर पूरा ध्यान देते लेकिन गार्ड दो और बच्चे काफी होती हैं। बसें और निजी वाहन सड़क के दूसरी ओर खड़े रहते हैं। सड़क पर ट्रैफिक ज्यादा होने से दिक्कतें होती है।

समाधान: बसों को केवी के गेट के भीतर से ही भरकर निकाला जाए: इस समस्या का समाधान करने बसों को केंद्रीय विद्यालय के गेट के भीतर खड़ा कर भरवाना और खाली करवाना ही एकमात्र समाधान है।

समस्या 2: मेन रोड के किनारे लगने वाला सब्जी बाजार, पार्किंग

दूसरी बड़ी समस्या नगर पालिका की लापरवाही के कारण सामने आ रही है। हॉकर्स जोन होने के बाद भी रोज का सब्जी बाजार सड़क के किनारे लगता है। पावर जनरेटिंग कंपनी के रामरख्यानी स्टेडियम के आस-पास बाजार लगता है। जय स्तंभ चौक से लेकर केंद्रीय विद्यालय तक दुकानें लगने से परेशानी होती है। गांव से ताजी सब्जी लेकर बेचने आने वालों के पास यहां लोग सड़क पर वाहन खड़ा कर सब्जियां लेते हैं। इससे ट्रैफिक जाम होता है। दरअसल, 12.30 बजे पावर प्लांट से भी छुट्टी होती है और केंद्रीय विद्यालय की भी। दोनों एक समय में होने से ट्रैफिक थम जाता है।

समाधान: फेडरेशन स्कूल के पास बने हॉकर्स जोन पर पूरा बाजार शिफ्ट हो।

नपा, एमपीपीजीसीएल और स्कूल प्रबंधन की लेगी बैठक

केंद्रीय विद्यालय के सामने खड़ी रहने वाली बसों और अस्थाई सब्जी बाजार से दिक्कतें होती हैं। कई बार स्कूल प्रबंधन को पत्र लिखा, लेकिन यहां कार्य पावर जनरेटिंग कंपनी करती है। इसलिए नपा, पावर जनरेटिंग कंपनी, पुलिस अौर स्कूल प्रबंधन की संयुक्त बैठक कर इस समस्या का समाधान निकालेगी। महेंद्र सिंह चौहान, टीआई, सारनी

हॉकर्स जोन पर ही दुकानें लगाने के निर्देश

नगर पालिका ने हॉकर्स जोन पर ही दुकानें लगाने के निर्देश दिए हैं। इसी आधार पर उनसे वसूली भी होगी। सड़क किनारे दुकानें लगाने वाले फल और सब्जी विक्रेताओं काे बुधवार से ही हटाया जाएगा। पवन राय, सीएमओ नपा सारनी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×