Hindi News »Madhya Pradesh »Sarni» आंदोलन को मिल रहे जनसमर्थन से चिढ़ रहा सत्तारूढ़ दल : मोदी

आंदोलन को मिल रहे जनसमर्थन से चिढ़ रहा सत्तारूढ़ दल : मोदी

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने लगाया क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप, पूछा सब कुछ कागजों पर, जमीन पर विकास कब भास्कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 06, 2018, 08:05 AM IST

आंदोलन को मिल रहे जनसमर्थन से चिढ़ रहा सत्तारूढ़ दल : मोदी
स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने लगाया क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप, पूछा सब कुछ कागजों पर, जमीन पर विकास कब

भास्कर संवाददाता | सारनी

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और उद्योग बचाओ, नगर बचाओ समिति के संयोजक कृष्णा मोदी ने कहा भाजपाई आंदोलन को दबाने के लिए बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा जनता से जनसमर्थन मिल रहा है तो भाजपाई इससे चिढ़ रहे हैं। काम नहीं करवा पाने वाले नेताओं और भाजपा की असफलताएं जनता देख रही है। वे पांचवें दिन क्रमिक भूख हड़ताल को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा सब कुछ कागजों पर है, जमीनी विकास कब होगा।

जयस्तंभ चौक पर उद्योग बचाओ, नगर बचाओ समिति की भूख हड़ताल शनिवार को पांचवें दिन जारी रही। काॅमरेड रामा वाइकर, सामजिक कार्यकर्ता एडवोकेट राकेश महाले, आचार्य एनआर मेहरा, रामकिशोर बेहरे सुबह नौ बजे से धरना स्थल पर बैठे। क्रमिक भूख हड़ताल को जनता का समर्थन मिल रहा है। मोदी ने कहा शासन और प्रशासन चिंतित है।

भाजपाई व्याकुल हैं। 3 मई को अखबारों के माध्यम से जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया। पहले नपा में नगर बचाओ, उद्योग बचाओ समिति के प्रस्ताव को भाजपा पार्षदों ने गिराया अब वे समिति और इससे जुड़े नेताओं का अस्तित्व देख रहे हैं।

संघर्ष समिति सरकार से खदानें खुलवाने, दो यूनिटों को लगवाने, तहसील कार्यालय शुरू करवाने एवं सूखाढाना में नए कारखाने खुलवाने की मांग कर रही है। सभा में रामू पवार, विनोद जगताप, मोहम्मद इलियास, विशाल फोफसे, हरीश पटेल, गंगाधर चढ़ोकार, देवमन डेहरिया, भैयालाल नर्रे, सुरेश जावलकर, निलेश त्रिपाठी समेत अन्य मौजूद थे। रविवार को यहां शिव सेना के लोग हड़ताल पर बैठेंगे।

सारनी। जय स्तंभ पर भूख हड़ताल पर बैठे कार्यकर्ता।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×