• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sehore
  • 24 फीट चौड़ी रोड के दोनों ओर अितक्रमण उसके बीच में ही पांच फीट की पार्किंग बनाई
--Advertisement--

24 फीट चौड़ी रोड के दोनों ओर अितक्रमण उसके बीच में ही पांच फीट की पार्किंग बनाई

शहर के सबसे व्यस्त बाजार की करीब 300 मीटर लंबी और 24 फीट चौड़ाई वाली गांधी रोड के बीच में बनाई दोपहिया वाहनों की...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:40 AM IST
शहर के सबसे व्यस्त बाजार की करीब 300 मीटर लंबी और 24 फीट चौड़ाई वाली गांधी रोड के बीच में बनाई दोपहिया वाहनों की पार्किंग मुसीबत बन रही है। रोड के बीच 5 फीट चौड़ी जगह में पार्किंग बनाई गई है। इससे सुविधा तो मिली लेकिन दोनों तरफ अभी भी कई जगह अतिक्रमण होने से आवाजाही के लिए जगह कम पड़ने लगी है। दोनों तरफ 9.5- 9.5 फीट चौड़ा रोड बचना चाहिए लेकिन वह भी अतिक्रमण के कारण कम हो गया है। इसी तरह सड़क के खुदे होने से भी वाहनों की पार्किंग एक लाइन में नहीं हो पा रही है जिससे कहीं अधिक तो कई जगह कम जगह बच रही है। खरीदारों और व्यापारियों को तो सुविधा मिलना शुरु हो गई लेकिन अतिक्रमण के कारण अन्य लोगों की मुसीबत हो रही है।

प्रशासन ने व्यापारियों के साथ मिलकर नगर के सबसे व्यस्ततम मार्ग गांधी रोड पर वाहनों की बेतरतीब पार्किंग से होने वाली असुविधा से बचने सड़क के बीच में इन्हें खड़ा कराना शुरु कराया। इससे व्यापारियों को तो राहत मिली लेकिन अगले ही दिन इससे होने वाली परेशानियों से भी इन लोगों को जूझना पड़ा। इसका मुख्य कारण दुकानों के बाहर सामान रखने पर रोक नहीं लग पाना और वाहनों को खड़ा करने के लिए निर्धारित लाइन नहीं होने से दुपहिया वाहनों को आगे-पीछे खड़ा किया जा रहा है। इससे कहीं अधिक तो कहीं कम जगह बच रही है। इससे दूसरे वाहनों को किनारे से निकलने में कठिनाई हो रही है।

दुकानदार अब भी सामान 2-2 फीट बाहर रख रहे हैं जिससे रोड हो रहा है संकरा

गांधी बाजार रोड पर दोपहिया वाहन पार्किंग से नहीं आ पा रहे लोडिंग एवं चार पहिया वाहन।

ये हुए फायदे




ये आ रही कठिनाइयां




400 से अधिक दुकानें हैं बाजार में

गांधी रोड सबसे व्यस्ततम बाजार है। यहां पर कपड़े के अलावा रेडिमेड, मनिहारी, महिला श्रंगार सामग्री सहित अन्य कई जरूरी चीजों का यह बाजार है। यहां पर ग्राहकों को सबसे अधिक दबाव रहता है। इस बाजार में छोटी बड़ी 400 से अधिक दुकानें हैं। ऐसे में बड़ी संख्या में ग्राहकों के आने से यहां पर परेशानी होती है।

फायदे भी नुकसान भी

यहां के व्यापारी किशनचंद आहूजा खेमी भाई ने बताया कि बीच में वाहनों की पार्किंग से काफी राहत मिली है। व्यापारियों के साथ-साथ लोगों को भी सुविधा मिली है। रईस भाई ने बताया कि दुपहिया वाहनों को एक कतार में खड़ा नहीं होने से परेशानी हो रही है। कमल झंवर ने बताया कि कुछ समस्याएं हैं जिनका समाधान जरूरी है। बिजली टेलीफोन के पोल हटाने, सड़क निर्माण और इसके बाद एक लाइन खींचने से व्यवस्था बन सकती है। इस संबंध में एसडीएम राजकुमार खत्री ने बताया कि उन्हें इस तरह की जानकारी नहीं है। यदि किसी तरह की कोई समस्या है तो उसे देखेंगे। जो भी उचित होगा वह किया जाएगा।

इस तरह हो रही दिक्कत

गांधी रोड की चौड़ाई 24 तो कहीं 24.15 फीट है। एक बाइक को खड़ा करने के लिए करीब 5 फीट की जगह लगती है। यदि एक लाइन के अंदर इन वाहनों को खड़ा कराया जाए दोनों किनारे 9.50-9.50 फीट जगह बचती है। अब कई दुकानदार अपनी दुकानों के आगे दो से चार फीट तक अतिक्रमण कर सामान रख रहे हैं। इससे यह जगह 5.50 फीट से 7 फीट तक बचती है। ऐसे में यहां से चार पहिया वाहन का निकलना मुश्किल हो रहा है।