• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sehore
  • ग्रामीणों ने रखी टंकी,थानसिंह बोर से भरते हैं पानी
--Advertisement--

ग्रामीणों ने रखी टंकी,थानसिंह बोर से भरते हैं पानी

बमुलिया दोराहा के लोगों को पानी की समस्या थी तो यहीं के एक व्यक्ति ने अपने बोर से निशुल्क पानी देना शुरू किया। इस...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:40 AM IST
बमुलिया दोराहा के लोगों को पानी की समस्या थी तो यहीं के एक व्यक्ति ने अपने बोर से निशुल्क पानी देना शुरू किया। इस दौरान एक बड़ी समस्या पानी भरने को लेकर होने वाले विवाद और इस दौरान वहां पर की जाने वाली पानी की बर्बादी की थी। इसे देखते हुए ग्रामीणों ने बैठकर निर्णय लिया कि वह एक टंकी रखेंगे और उसमें नल कनेक्शन करेंगे। इसके बाद टंकी को जब पानी से भर दिया जाएगा तो जरूरत के हिसाब से लोग पानी ले जा सकते हैं।

सीहोर के बमुलिया दोराहा गांव की सपेरा बस्ती और आसपास रहनेवाले लोगों को पानी की काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसके लिए यहां के रहवासी थान सिंह ने अपने निजी बोर से सभी लोगों को एक समय पानी निशुल्क देना शुरु कर दिया। इस कारण यहां पर धीरे-धीरे बड़ी संख्या में लोग पानी भरने आने लगे। पानी भरने के बीच वाद-विवाद होने लगे। कई बार तो नंबर लगाने की बात को लेकर समस्या होने लगी। पहले पानी भरने को लेकर तो बाद में इस तरह के विवादों के चलते काफी पानी भी नीचे बहकर बर्बाद हो जाता था।

ग्रामीणों ने बैठक करके लिया निर्णय : इस समस्या से परेशान गांव के सभी लोगों ने एक बैठक की। सभी को इन समस्याओं के निदान के लिए बैठक करने समर्थन संस्था की संतोषी तिवारी ने जागरूक किया। इसके बाद सभी ने आगे आकर बैठक में तय किया कि पानी की बर्बादी नहीं होने देंगे। साथ ही वह पानी के लिए विवाद भी न ही करेंगे। इसके लिए एक टंकी क्रय की गई। इसमें टोंटी लगवाई गईं। इस टंकी को थान सिंह हर रोज भर देते हैं। ऐसे में लोग इस टंकी से पानी भरकर काम चला रहे हैं। यह पहल रंग लाई और सबको पानी मिल रहा है।

मदद

बमुलिया दोराहा गांव के लोग इस टंकी से जब चाहे पानी ले सकते हैं

अब न पानी नीचे गिरता है, न विवाद होते हैं

इस व्यवस्था से अब ग्रामीणों को 24 घंटे पानी मिलने लगा है। टंकी को थान सिंह भर देते हैं। इसके बाद ग्रामीण अपने-अपने समय से पानी भरकर ले जाते हैं। पहले तो उन्हें एक ही समय पानी मिलता था। वह भी जब थान सिंह पानी भरवाते थे। अब तो यह सुविधा 24 घंटे मिलना शुरु हो गई। इससे लोग आसानी से दिन-रात पानी भर रहे हैं। गांव के हिम्मत सिंह ने बताया कि इससे काफी सुविधा मिल पा रही है। अब पानी भी नीचे नहीं गिरता है। न ही विवाद हो रहे हैं।