--Advertisement--

भास्कर संवाददाता | सीहोर

भास्कर संवाददाता | सीहोर वित्तमंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को आम बजट पेश किया। इस बार भी आम लोगों और कारोबारियों...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 03:55 AM IST
भास्कर संवाददाता | सीहोर

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को आम बजट पेश किया। इस बार भी आम लोगों और कारोबारियों को बजट से काफी उम्मीदें थीं, जिसे पूरा करने की कोशिशों के तहत वित्तमंत्री ने कुछ अहम ऐलान जरूर किए। लेकिन इन सबके बाद भी यह बजट लोगों को कोई खास रास नहीं आया।

लोगों का मानना है कि कांग्रेस के परंपरागत वोटरों को साधने के लिए ग्रामीण और किसानों के लिए घोषणाएं तो की गई हैं, लेकिन मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए बजट में कोई ध्यान नहीं दिया गया। यहां तक कि पेट्रोल और डीजल के दाम करने की जो घोषणा की गई है लेकिन उसकी जगह रोड सेस लगा दिया गया है। हालांकि कुछ सामग्री छोड़ दी जाए तो जरूरत की अधिकांश चीजें महंगी होने की संभावना है। वाटर प्यूरीफायर, टाइल्स, सोलर पेनल, मॉडयूल वाले ग्लास, कच्चा काजू के सस्ते होने की संभावना है। इसके साथ ही इंपोर्टेंड कार, बाइक, सोना-चांदी, बेजिटेवल, फ्रूट जूस, क्रीम, पेस्ट, पाउडर, सिगरेट, पान मसाला, खाने का तेल सहित रोजमर्रा की सभी चीजों पर महंगाई का असर दिखाई देगा। हालांकि वित्तमंत्री जेठली बजट में हर वर्ग का ध्यान रखने की बात कह रहे हैं, लेकिन स्थानीय स्तर पर राजनीति के जानकार इसे सिर्फ छलावा बता रहे हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..