• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sehore
  • सीहोर | भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान फंदा में तिवड़ा के
--Advertisement--

सीहोर | भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान फंदा में तिवड़ा के

सीहोर | भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान फंदा में तिवड़ा के शुद्ध बीज उत्पादन के लिए जाली के अंदर फसल को लगाया गया है। दो...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 03:55 AM IST
सीहोर | भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान फंदा में तिवड़ा के शुद्ध बीज उत्पादन के लिए जाली के अंदर फसल को लगाया गया है। दो किस्मों को लगाने के लिए में 300 मीटर की दूरी रखी गई है। शुद्ध बीज उत्पादन के लिए जाली का उपयोग किया गया है। तिवड़ा (खेसारी) का उपयोग दाल और बेसन के रूप में किया जाता है।