--Advertisement--

24 घंटे नलों में पानी नहीं दे पाई नपा तो मीटर लगाने का काम भी किया बंद

Sehore News - नगर पालिका ने शहर में अमृत योजना के तहत करीब 11 करोड़ की लागत से पानी की पाइप लाइन बिछाई। इसी योजना के तहत लोगों के...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:46 AM IST
Sehore News - can not water the tapes in 24 hours
नगर पालिका ने शहर में अमृत योजना के तहत करीब 11 करोड़ की लागत से पानी की पाइप लाइन बिछाई। इसी योजना के तहत लोगों के घरों में नए नल कनेक्शन देने के साथ ही मीटर लगाने का काम भी किया जाना था। पूरे शहर में करीब 18 हजार नल कनेक्शन में पानी मीटर लगाना था। इसमें से करीब 7 हजार नल कनेक्शन में ही मीटर लग सके, इसके बाद काम रोकना पड़ा। जब से मीटर लगवाए तो लोगों का कहना था कि नलों में प्रेशर से पानी नहीं आ रहा है। इसलिए उन्होंने इन मीटर को भी खोल कर रख लिया। पानी के मीटर लगाकर लोगों को 24 घंटे पानी उपलब्ध कराने के लिए प्रदेशभर में एक साल पहले प्लान बनाया गया था। प्रदेशभर के अधिकांश जगहों पर हालत यह है कि नगर निगम, नगर पालिका और नगर परिषद लोगों को रोज पानी नहीं पिला पा रही हैं। 24 घंटे यदि लोगों के घरों के में पानी नहीं पहुंच पाया तो मीटर का कोई औचित्य नहीं है। यही हाल सीहोर शहर में भी हुआ है। नपा ने 24 घंटे पानी उपलब्ध कराने के लिए लोगों के घरों में नए नल कनेक्शन देने मीटर तो लगाए लेकिन 24 घंटे पानी उपलब्ध नहीं करा पाए। ऐसे में यह काम प्रदेश स्तर से ही रोक दिया गया।

मीटर कनेक्शन से 24 घंटे पानी देने की शासन की मंशा नहीं हो सकी पूरी

3 हजार लोगों से लिए 1500 रुपए

नए मीटर कनेक्शन के लिए शुरुआत में एक उपभोक्ता से 1500 रुपए नल कनेक्शन का शुल्क जमा कराया गया। इसमें मीटर कनेक्शन का भी चार्ज जुड़ा हुआ था। इसके बाद नए नल कनेक्शन फ्री देने का काम शुरु किया गया। इस दौरान पूर्व में करीब 3 हजार से अधिक लोग 1500 रुपए जमा कर चुके थे।

9 हजार दिए कनेक्शन और 7 हजार ही मीटर लगाए

शहर में अमृत योजना के तहत 11 करोड़ की लागत से 72 किमी पाइप लाइन बिछाई गई। इसके बाद पानी की चोरी को रोकने घरों में नल में पानी मीटर लगाने का काम किया। साथ ही शहर में करीब 9 हजार नए कनेक्शन दिए और 7 हजार के करीब मीटर लगाए। इसके बाद काम रोक दिया गया। करीब छह माह से मीटर लगाने का काम बंद है।

योजना हो गई बंद

हर घर के नल में पानी मीटर लगाने के लिए प्रदेश स्तर पर योजना शुरु की गई थी। इस योजना का क्रियान्वयन प्रदेश स्तर से ही ठीक से नहीं हो सका। उपभोक्ताओं को 24 घंटे पानी उपलब्ध नहीं करा पाए इसके कारण यह योजना प्रदेश स्तर से ही बंद हो गई।-नीरज श्रीवास्तव, सीएमओ नपा

प्रेशर से पानी नहीं आता था, मीटर निकालकर रख लिए

करीब छह माह पहले तक नपा द्वारा शहर में घरों के नलों में पानी का मीटर लगाने का काम जारी था। इन नलों में मीटर लगा होने के कारण पानी प्रेशर से नहीं आता था। शहर में एक दिन छोड़कर पानी की सप्लाई की जाती है। वह भी मात्र 45 मिनट। 45 मिनट में जिन घरों में पानी का मीटर लगा हुआ था। उसमें पीने का पानी भी नहीं भर पाता था। गुलजारी का बगीचा निवासी ममता त्रिपाठी का कहना है कि नलों में पानी के मीटर लगाने से पानी नहीं भर पाता था। इससे मीटर निकाल दिया। मंडी निवासी अर्जुन मालवीय ने बताया कि नए नल कनेक्शन में पानी नहीं आता था लेकिन एयर जब निकलती थी तो मीटर चलता था। इसके बिल के भुगतान के लिए भी मोबाइल पर चार माह पहले तक एसएमएस भी आए। इससे परेशान होकर मीटर ही निकाल दिया।

X
Sehore News - can not water the tapes in 24 hours
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..