--Advertisement--

स्वच्छता सर्वेक्षण में टॉप फाइव में आने रात को उठेगा घरों से कचरा

Sehore News - भास्कर संवाददाता| नसरुल्लागंज चार जनवरी से देशभर में स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 शुरु होने जा रहा है। इसके लिए नगर...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:01 AM IST
Nasrullaganj News - cleanliness survey will rise in the top five in the night garbage from houses
भास्कर संवाददाता| नसरुल्लागंज

चार जनवरी से देशभर में स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 शुरु होने जा रहा है। इसके लिए नगर परिषद ने तैयारियां शुरु कर दी हैं। इस बार नप ने मध्यप्रदेश में टॉप पांच में आने का लक्ष्य रखा है लेकिन चुनावी तैयारियों और कुछ बड़े काम अधूरे रहने के कारण नप के लिए यह रेटिंग चुनौती बन गया है। वहीं सर्वेक्षण के तौर तरीकों में भी बदलाव किया गया है।

केंद्र सरकार ने देश में स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए दो साल पहले स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान शुरु किया है। नप के स्वच्छता अभियान के प्रभारी अशरफ खां ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वच्छता अभियान में इस बार ऑनलाइन फीडिंग होना है। इसके लिए नप ने सारे दस्तावेज पोर्टल पर अपलोड कर दिए हैं। वहीं अभियान के अनुरूप अच्छे नंबर पाने के लिए जोर-शोर से तैयारियां की जा रही है। उनका कहना था कि चुनावी कार्याें के कारण कुछ दिक्कतें आई हैं। इसके बावजूद नप अभियान में अच्छा प्रदर्शन करेगी।

इस बार ऑन लाइन सर्वेक्षण

इस बार अपने दस्तावेज ऑनलाइन दर्ज करना होंगे। पिछले बार स्वच्छता सर्वेक्षण की टीमों ने नप कार्यालय में पहुंचकर दस्तावेजों की जांच की थी लेकिन इस बार कोई टीम नहीं आएगी। नप द्वारा ऑनलाइन दर्ज किए गए दस्तावेजों के आधार पर स्वतंत्र संस्था की ओर से प्रमाणीकरण, ऑनलाइन वेरीफिकेशन, नागरिकों का फीडबैक और आन ग्राउंड स्क्रूटनी की जाएगी।

सरकार ने स्वच्छता सर्वेक्षण में अंकों की संख्या 4 हजार से 5 हजार कर दी है

कचरा मुक्त पर 1000,ओडीएफ को लेकर 250 अंक से रेटिंग होगी तय

स्वच्छता सर्वेक्षण में इस बार पांच हजार अंक शामिल रहेंगे। पुलिस कालोनी व शासकीय कालोनियों को भी शामिल किया जाएगा। सर्वे में चार भाग होंगे। हर भाग 1250 अंकों का होगा। सर्वे में प्रमाणीकरण का नया भाग जोड़ा है जिसका 20 प्रतिशत स्टाफ रेटिंग और 5 प्रतिशत ओडीएफ, ओडीएफ प्लस का होगा। स्वच्छता सर्वेक्षण में पहली बार देश के सभी शहर शामिल होंगे। ऑनलाइन दस्तावेजों के आधार पर स्वतंत्र संस्था नप को बिना सूचना दिए दावों की पड़ताल करेगी। कचरा मुक्त नगर के लिए एक हजार और ओडीएफ को लेकर 250 अंक से रेटिंग तय होगी। अभियान में जागरूकता कार्यक्रमों पर भी अंक निर्धारित किए गए हैं।

प्रयास किए जा रहे हैं

स्वच्छता सर्वेक्षण में टॉप पांच में आने के लिए नगर परिषद द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। इस वर्ष सर्वेक्षण ऑनलाइन होगा, इसके लिए भी दस्तावेजों की ऑनलाइन फीडिंग की जा रही है। शैलेंद्र सिन्हा, सीएमओ नगर परिषद नसरुल्लागंज

ये प्रयास कर रही नप

स्वच्छता अभियान के प्रभारी अशरफ अली के अनुसार सर्वेक्षण में अच्छे नंबर पाने के लिए कचरे से कंपोस्ट खाद बनाने का काम शीघ्र शुरू हो जाएगा। सार्वजनिक शौचालयों में पब्लिक ओपिनियम के लिए फीडबैक लगाया जाएगा। डोर-टू-डोर कचरा एकत्रित करने की प्रक्रिया को मजबूत किया जा रहा है। रात में भी नगर में कचरा संग्रहण किया जा रहा है।

ये आएंगी दिक्कतें

कचरे से खाद बनाने का काम शुरू नहीं हो पाया है। कचरा संग्रहण की व्यवस्था भी चरमरा गई है। नालियों की नियमित सफाई नहीं हो पा रही है। क्षेत्र में गंदगी फैल रही है। नगर में सूखे और गीले कचरे को संग्रहित करने अब तक घर चिन्हित नहीं किए गए हैं। इन कर्मियों के चलते नप को स्वच्छता सर्वेक्षण के नंबर पाने में दिक्कतें आएंगी।

X
Nasrullaganj News - cleanliness survey will rise in the top five in the night garbage from houses
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..