पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sehore News Mp News 3 Months Ration Will Be Distributed Together To Empty The Warehouses

गोदामों को खाली करने एक साथ बांटेंगे 3 माह का राशन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इस बार अच्छी बारिश से गेहूं की बंपर पैदावार होने की उम्मीद है इसलिए प्रशासन भी समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी की तैयारी में जुटा है । इसी को लेकर वेयरहाउस में अनाज रखने की जगह बनाने की कवायद शुरू हो गई है। इसी को लेकर अब राशन दुकानों से भी एक नहीं बल्कि तीन माह का राशन दिया जा रहा है। जिले की 351 कंट्रोल की दुकानों पर 1 लाख 32 हजार क्विंटल राशन बांटा जाएगा जिसमें गेहूं के साथ चावल भी शामिल हैं। दूसरी तरफ कृषि उपज मंडी में नई उपज आना शुरू हो गई है पर उपज गीली होने से अभी कम दाम मिल रहे हैं।

जिलेभर में अच्छी बारिश होने से इस बार गेहूं का रकबा बढ़ा था। जिले में करीब 30 हजार हेक्टेयर से अधिक रकबा बढ़ा था। बोवनी का रकबा बढ़ा तो इसके बाद मौसम ने भी साथ दिया। समय-समय पर बारिश हुई जिससे फसल की ग्रोथ अच्छी हुई और दाना भी अच्छा आया। अब बंपर आवक की उम्मीद है क्योंकि फसल बहुत अच्छी है।

आवक शुरू पर नमी होने से गेहूं के 1700 रु. तक मिल रहे दाम

तीन माह का एक साथ दिया जा रहा राशन : इस संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी शैलेष शर्मा ने बताया कि इस माह जो राशन दिया जाएगा उसके साथ आने वाले दो माह का राशन भी दिया जा रहा है। खरीदी के लिए तैयारियां की जा रही हैं। जिन गोदामों में पहले की उपज रखी है उसका परिवहन हो रहा है।

जिले में 351 राशन दुकानों से बंटता है राशन

जिले में 351 कंट्रोल की दुकानें हैं। एक माह में इन दुकानों से 1 लाख 79 हजार लोग राशन लेते हैं। इस तरह से हर माह इन दुकानों से 36 हजार क्विंटल गेहूं और 8 हजार क्विंटल चावल दिया जाता है। इस तरह से तीन माह का 1 लाख 32 हजार क्विंटल राशन एक साथ दिया जा रहा है। इस तरह से गोदाम खाली करने का काम किया जा रहा है।

समर्थन मूल्य के लिए खरीदी की तैयारियां

इधर प्रशासन समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी के लिए तैयारियां कर रहा है। सबसे बड़ी समस्या यह है कि गोदामों में जो पहले की उपज है उसे खाली कराया जाए। इसके लिए अब कंट्रोल की दुकानों पर दिया जाने वाला गेहूं और चावल एक माह का नहीं बल्कि तीन महीने का दिया जा रहा है। यह पूरा राशन एक साथ दिया जा रहा है।

उत्पादन पिछले साल से 25% ज्यादा, हर व्यापारी कर सकेगा खरीदी

इस बार सभी व्यापारियों को उम्मीद है कि वे उपज की अच्छी खरीदी कर सकेंगे और बेहतर व्यापार कर लेंगे। पिछले सालों में यह होता आया है कि हर व्यापारी मनचाहा व्यापार नहीं कर पाता था। इसका कारण यह था कि वह कम आवक होने से जरूरत के हिसाब का गेहूं नहीं खरीद पाता था। इस बार अधिक आवक होने से हर व्यापारी अच्छी खरीदी कर सकेगा। जानकारों की मानें तो पिछले साल की तुलना में इस बार 25 फीसदी अधिक खरीदी व्यापारी कर सकेंगे। व्यापारी अनिल पालीवाल का कहना है कि नई उपज आना शुरू हो गई है। अभी गेहूं 1700 से 2000 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बिक रहा है। 1700 से 1800 रुपए में जो गेहूं खरीदा जा रहा है उसमें नमी अधिक है।
खबरें और भी हैं...