ई-टेंडर में गड़बड़ी के बाद अब भाजपा शासन में बांटे मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान की जांच में जुटी राज्य सरकार

Sehore News - ई-टेंडर में गड़बड़ियों के मामले को सामने लाने के बाद प्रदेश की कांग्रेस सरकार अब पूर्ववर्ती भाजपा सरकार को...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 09:05 AM IST
Sehore News - mp news after the mess in the e tender now the state government engaged in investigating the chief minister svchatdhudabad in bjp rule
ई-टेंडर में गड़बड़ियों के मामले को सामने लाने के बाद प्रदेश की कांग्रेस सरकार अब पूर्ववर्ती भाजपा सरकार को मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान के मामले में घेरने की तैयारी में है। सामान्य प्रशासन विभाग के उप सचिव ने सीहोर सहित प्रदेश के 23 जिलों में बीते पांच साल में स्वेच्छानुदान के नाम पर बांटी गई राशि का ब्योरा मांगा है।

सरकार ने संबंधित जिलों के जवाबदेह अधिकारियों से पूछा है कि उनके जिलों के लिए वर्ष 2011-12 से 2016-17 में कितनी राशि मंजूर हुई है और कितनी वितरित हुई है। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार को संदेह है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अनुदान राशि का उपयोग सरकार की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए किया है। इस दौरान ऐसे लोगों को भी राशि दी गई है, जो नियमानुसार पात्र नहीं थे। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने जुलाई 2018 में केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना के लांच से पूर्व स्वेच्छानुदान मद में ताबड़-तोड़ केस मंजूर किए थे।

इस तरह बांटे गए थे करोड़ों रुपए : प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार प्रदेश में बीते वित्त वर्ष में मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान का भरपूर उपयोग हुआ था। उदाहरण के तौर पर वित्त वर्ष 2018-19 में विधानसभा चुनाव 2018 की आदर्श चुनाव आचार संहिता लगने से पहले ही सरकार ने 50 करोड़ रुपए से अधिक की राशि बांट दी थी। इसके पूर्व वर्ष 2017-18 में 149 करोड़ रुपए और वर्ष 2016-17 में 78 करोड़ रुपए बांटे गए थे।

X
Sehore News - mp news after the mess in the e tender now the state government engaged in investigating the chief minister svchatdhudabad in bjp rule
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना