बंद के दूसरे दिन भोपाल-इंदौर हाईवे सहित ग्रामीण क्षेत्रों में आधे रूटों पर ही चलीं बसें

Sehore News - अयोध्या मामले के सर्वाेच्च निर्णय को लेकर शनिवार से नगर बंद है। रविवार को भी पुलिस ने नगर की खुली दुकानों को फिर से...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:31 AM IST
Ashta News - mp news buses plying on half routes in rural areas including bhopal indore highway on the second day of the bandh
अयोध्या मामले के सर्वाेच्च निर्णय को लेकर शनिवार से नगर बंद है। रविवार को भी पुलिस ने नगर की खुली दुकानों को फिर से बंद करा दिया। इससे दूसरे दिन भी नगर में सन्नाटा देखने को मिला। इसका असर यात्री बसों में भी देखने क ो मिल रहा है। पिछले दो दिनों से यात्री बसों ट्रैफिक का अभाव होने के कारण उनके संचालन में भी कमी आई है। जिससे भोपाल-इंदौर हाईवे सहित ग्रामीण रूटों की आधी ही बसों का आवागमन हुआ।

शनिवार को अयोध्या मामले के निर्णय को देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने नगर को बंद रखने का निर्णय लिया था। वहीं कई व्यापारियों ने अपनी स्वेच्छा ही अपनी दुकानों को बंद रखा था। अयोध्या मामले का फैसला होने के बाद नगर में शांति यथावत रही थीं। इसे देखते हुए रविवार को सुबह से रोजमर्रा की तरह होटल, पान की दुकान, किराना व अन्य दुकानें खुलना शुरू हो गई थीं। इसी बीच पुलिस वाहनों के भ्रमण के दौरान अधिकारियों ने दुकानें वापस बंद करा दी थी।

रविवार काे वैसे भी बंद रहता है बाजार : रविवार अवकाश होने के कारण बाजार की दुकानें वैसे ही बंद रहती है। बस स्टैंड व पुराने हाईवे पर स्थित दुकानें जरूर खुलती है, लेकिन उनको भी बंद करा दिया था। जिससे नगर में दिन भर सन्नाटा पसरा रहा। नगर के दो दिनों से बंद रहने का असर लोगों के आवागमन पर भी हुआ है।

वहीं लोग यात्रा कर रहे हैं जिन्हें जरूर कामों से बाहर जाना पड़ा है। इसे देखते हुए बस संचालकों ने यात्रियों के अभाव में बसों को रूटों पर भेजना जरूरी नहीं समझते हुए उन्हें खड़ा कर लिया है। इससे उन यात्रियों को जरूर दुविधा हुई है जिस रूट पर इक्का-दुक्का बसें चलती थीं, लेकिन अयोध्या मामले के बाद से वह यात्रियों के अभाव में नहीं जा रही हैं।

रनायल जाने वाले यात्री मुकेश मकवाना ने बताया कि इस रूट पर सुबह एक बस जाती है, लेकिन उसके बाद दूसरी बस नहीं चलने से जाने में दिक्कत हो रही है।

भोपाल-इंदौर की बसों में आई कमी

भोपाल-इंदौर रूट पर करीब 65 बसों का आवागमन प्रतिदिन होता है। शनिवार से इस रूट पर चलने वाली बसों में सबसे ज्यादा कमी आई है। वहीं यात्री भी सुबह के समय निकल रहे हैं। उक्त रूट पर अब 25 से 30 बसें ही चल रही हैं। हालांकि अलीपुर बस स्टैंड से जरूर चार्टड बसों का आवागमन हो रहा है। इससे यात्रियों को जरूर कुछ राहत है।

ग्रामीण रूट की बसों में यात्रियों का अभाव

वहीं आष्टा से ग्रामीण रूटों पर चलने वाली बसों में यात्रियों का अभाव बना हुआ है। इस वजह से रविवार को भी कई बसें बस स्टैंड परिसर में ही खड़ी रहीं। एजेंट अनवर खान ने बताया कि यात्रियों की कमी होने के कारण बसों का आवागमन कम हुआ है। इस समय ग्रामीण क्षेत्र के लोग खेती किसानी में लगे हुए हैं तथा अयोध्या मामले के बाद गांव से नगर में नहीं आ रहे हैं।

शाम को खुली कुछ दुकानें : शनिवार से ज्यादा रविवार को नगर पूरी तरह बंद देखा गया। हालांकि नगर के चौराहों पर जरूर कुछ चहल-पहल देखी गई, लेकिन वहां पर भी एहतियात के तौर पर पुलिस व्यवस्था की गई थी। शाम के समय जरूर किराना, सब्जी आदि की दुकानें खुलीं।

रविवार को भी नगर में बंद कराई गईं दुकानें,चाय-पान की दुकानों पर ज्यादा फोकस

चाय-पान की दुकानों पर फोकस


X
Ashta News - mp news buses plying on half routes in rural areas including bhopal indore highway on the second day of the bandh
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना