विज्ञापन

नहीं बन सका सीवन के किनारे पाथ-वे 1 साल पहले नपा ने शुरू किया था काम

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 04:41 AM IST

Sehore News - नगर के बीचोंबीच से निकली सीवन नदी के किनारे लोगों के घूमने के लिए पाथ-वे बनाने के लिए प्रशासन और नगर पालिका ने एक...

Sehore News - mp news could not make path way on the edge of seam 1 year ago napa started
  • comment
नगर के बीचोंबीच से निकली सीवन नदी के किनारे लोगों के घूमने के लिए पाथ-वे बनाने के लिए प्रशासन और नगर पालिका ने एक साल पहले काम शुरू किया था लेकिन यह काम शुरू होने के कुछ दिन बाद ही बंद भी हो गया। इसके बाद नपा ने इस प्लान का विधिवत शुभारंभ किया लेकिन काम फिर भी शुरू नहीं हो सका। कब तक सीवन और उसके आसपास के क्षेत्र के जीर्णोद्धार का काम शुरू होगा, कहना कठिन है।

सीवन नदी के सौंदर्यीकरण के लिए प्रशासन ने नगर पालिका के साथ मिलकर एक साल पहले पाथ-वे बनाने का काम शुरू कराया था। इसके बाद नपा ने इसका एक प्लान तैयार किया और इस पर विस्तार से काम कराने के लिए इसका भूमिपूजन भी किया। हालांकि अब तो आचार संहिता है, इसलिए दो माह बाद ही काम शुरू हो सकेगा। पांच साल पहले सीवन और बांस बेड़े को व्यवस्थित करने के साथ प्राचीन धरोहरों को भी सहेजने के लिए प्रोजेक्ट तैयार किया गया। साथ ही पूरे प्रदेश में कटंग बांसों के लिए प्रख्यात इस शहर में बेंबो मिशन को कई काम करना थे लेकिन इस प्लान का क्या हुआ किसी को कुछ पता नहीं।

इन विभागों को कराना था काम

इस योजना का प्रजेंटेशन कलेक्टोरेट में किया गया था। इस दौरान सभी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे। इसके लिए इस्टीमेट तैयार किया गया था।

नगरीय प्रशासन विभाग के अतिरिक्त ईको पर्यटन बोर्ड, पर्यटन विभाग, राष्ट्रीय बैम्बू मिशन भी इस प्रोजेक्ट में शामिल थे। सभी विभागों के दलों ने यहां आकर सर्वे किया लेकिन इस प्लान पर काम शुरू नहीं हो सका।

योजना में करीब 26 करोड़ रुपए से सीवन और उसके आसपास का विकास किया जाना था

क्या था पांच साल पहले का प्लान

पांच साल पहले प्रशासन और नगर पालिका ने जो एक प्लान तैयार किया था उसमें सीवन नदी के महिला घाट से लेकर हनुमान फाटक तक नदी के दोनों ओर विकास कार्यों के साथ-साथ रास्ते में पड़ने वाले सभी धार्मिक व प्राचीन स्थलों को भी विकसित किया जाना था। योजना को अंतिम रूप देने के लिए जिला प्रशासन शहरवासियों से सुझाव भी मांगे थे। योजना के अनुरूप करीब 26 करोड़ रुपए से सीवन और उसके आसपास के क्षेत्र का विकास किया जाना था। इसमें हनुमान फाटक, सुंदर वन के साथ-साथ बांसों की पैदावार बढ़ाने का भी प्रावधान था। इसके लिए प्लान बनाया गया था।

नए स्वरूप में नहीं सुंदर वन

सीवन नदी किनारे स्थित सुंदर वन में बांस क्षेत्र के संरक्षण एवं सौंदर्यीकरण के लिए एकीकृत पर्यटन योजना तैयार की गई थी। सुंदर वन में जहां लोगों के मनोरंजन के साधन उपलब्ध कराए जाने थे, वहीं बांस वन संरक्षण एवं विकास के लिए स्व सहायता समूहों तथा कृषकों को योजना में शामिल करने से रोजगार के अवसर भी बढ़ाना थे। इसी के साथ लगी सीवन नदी को संवारने के लिए भी कई काम किए जाने थे। यहां पर वोटिंग की सुविधा भी उपलब्ध कराने का प्लान था। अब नगर पालिका ने सीवन के सौंदर्यीकरण का एक अलग प्लान तैयार किया है। इस संबंध में नपा सीएमओ अमर सत्य गुप्ता ने बताया कि पूर्व के प्लान पर क्यों अमल नहीं हो सका, इसकी जानकारी नहीं है। वर्तमान जो भी प्लान है उस पर काम होगा।

X
Sehore News - mp news could not make path way on the edge of seam 1 year ago napa started
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन