• Hindi News
  • Mp
  • Sehore
  • Ashta News mp news kavi sammelan basti basti badra rained we felt sorry in the spring

कवि सम्मेलन... बस्ती-बस्ती बदरा बरसे, तरस गए हम सावन में

Sehore News - राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में मध्यप्रदेश शासन संस्कृति विभाग एवं नगरपालिका परिषद...

Oct 13, 2019, 06:31 AM IST
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में मध्यप्रदेश शासन संस्कृति विभाग एवं नगरपालिका परिषद आष्टा के संयुक्त तत्वावधान में स्थानीय बड़ा बाजार में राष्ट्रीय स्तरीय कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें देश के सुप्रसिद्ध कवियों ने भाग लेकर अपनी श्रेष्ठतम कविताओं एवं रचनाओं का पाठ कर देर रात्रि तक श्रोताओं को गुदगुदाया व मंत्रमुग्ध किया।

शुक्रवार की रात नगर के पीपल चौराहा पर आयोजित कवि सम्मेलन की शुरुआत मां शारदे की वंदना और दीप प्रज्वलन के साथ हुआ। नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश परमार ने सभी कविगण का स्वागत किया। सम्मेलन के सूत्रधार अशोक भाटी ने स्थानीय कवि गीतेश्वर बाबू देव्वाल घायल की प्रतिनिधि रचना जिंदगी की राह में कई पथिक मिले मुझे, तुम मिले तो जिंदगी की साधना बदल गई से सम्मेलन की शुरुआत कराई। उदयपुर से पधारी कवयित्री दीपिका माही ने मेवाड़ की मीरा के उद्दात प्रेम को अपनी विशिष्ट भाव भंगिमा के साथ प्रस्तुत किया। उनके गीत बस्ती-बस्ती बदरा बरसे, तरस गए हम सावन में, ऐसे रूठे सजना हमसे मौसम गया मनावन में... सहित गीतों में अभिव्यक्त राधा, रुक्मणि और मीरा के प्रेम के शास्वत स्वरूप को जमकर सराहा गया। हास्य व्यंग के ख्यातनाम कवि ग्वालियर से पधारे तेजनारायण बेचैन ने हनी ट्रेप जैसे सामयिक विषय पर तंज कसते हुए कहा कि शहदखोर भालुओं का पता नही मधुमक्खियां रिमांड पर है। उज्जैन के वरिष्ठ कवि हेमंत श्रीमाल ने अपनी प्रतिनिधि रचना चंबल की बेटी में जब यह पंक्तियां पढ़ी चीखे भी चीख-चीखकर खामोश हो गई आखिर में यह हुआ कि मैं बेहोश हो गई सन्नाटा सा खींच गया। कवि सम्मेलन के सूत्रधार अशोक भाटी ने हास्य-व्यंग के रंग बिखेरते हुए अपनी रचना में कहा कि बापू ने अहिंसा के मंत्रों से सत्य को मजबूत किया। साथ ही कवि अशोक भाटी, कवयित्री सुश्री सीतासागर, फरीदाबाद के ख्यातनाम गीतकार दिनेश रघुवंशी ने अपनी कविता, गजल व गीतों की प्रस्तुति दी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना