तालाब के सौंदर्यीकरण का कार्य अधूरा, कारण एसडीएम के जाते ही किसी ने नहीं दिया ध्यान

Sehore News - पिछले साल इन दिनों नगर के प्राचीन तालाब में रात दिन जेसीबी व पोकलेन मशीन से तालाब को गहरा किया जा रहा था। इस कार्य...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:45 AM IST
Ichawar News - mp news the beautification of the pond is incomplete due to the sdm no one has given attention
पिछले साल इन दिनों नगर के प्राचीन तालाब में रात दिन जेसीबी व पोकलेन मशीन से तालाब को गहरा किया जा रहा था। इस कार्य में नगर लोग भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे थे। नगर परिषद ने तालाब के गहरीकरण व सौंदर्यीकरण के लिए डीपीआर तैयार किया था, लेकिन इस साल किसी ने भी तालाब की अोर मुड़कर भी नहीं देखा।

नगर के एक मात्र तालाब को संरक्षण की सख्त जरूरत है और नगरवासी भी चाहते हैं कि इस धरोहर को हर हाल में सुरक्षित रखा जाए। पिछले साल एसडीएम आरएस राजपूत ने तालाब के गहरीकरण व सौंदर्यीकरण का बीड़ा उठाया था।

इस पुनीत कार्य को होता देख नगर के समाज सेवी आगे आए और सहयोग किया। अल्पावधि के लिए आए एसडीएम श्री राजपूत ने तालाब को लेकर जो कल्पना की थी वो उनके जाने के बाद आकार नहीं ले पाई। उनके स्थानांतरण होते ही तालाब का कार्य भी बंद हो गया और अभी तक किसी ने भी इस ओर पहल नहीं की। नगर परिषद ने तालाब की पाल पर पेवर्स लगाने और यहां लाइट के लिए लैंप व बच्चों के लिए झूले लगाने का प्लान तैयार किया था, लेकिन एसडीएम श्री राजपूत के जाते ही सारी बातें आई गई हो गईं। इस समय सीहोर सीवन नदी व सी टू नाले का गहरीकरण व सौंदर्यीकरण जन सहयोग से चल रहा है। आष्टा में काला तालाब को सुंदर व गहरा किया जा रहा है। वहीं इछावर का प्राचीन तालाब अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है और नगरवासी यह उम्मीद लगाए हुए हैं कि फिर से एसडीएम आरएस राजपूत जैसे अधिकारी आए जो तालाब के संरक्षण का कार्य शुरू करें।

नवाबी दौर का है यह तालाब : तालाब का निर्माण नवाब भोपाल शाहजहां बेगम ने 1885 में कराया था। उस दौर में नगर में सूखा पड़ा था तो मजदूरों को काम देने के लिए तालाब का निर्माण किया गया था। मजदूर जब पाल पर एक तगारी मिट्टी डालते थे तो उनको एक कोड़ी मिलती थी। शाम को कोड़ी के हिसाब से मजदूरों का भुगतान किया जाता था।

नपा ने भी कराया है गहरीकरण : तालाब का गहरीकरण कार्य 2008 में नगर परिषद ने कराया था। इस समय नगर परिषद की अध्यक्ष शशी सुराना थीं। इस समय तालाब की पाल का सौंदर्यीकरण किया गया था।

जिले में जोर-शोर से जारी है नदी तालाब के संरक्षण की मुहिम

नगर के प्राचीन तालाब का अभी तक शुरू नहीं हुआ गहरीकरण व सौंदर्यीकरण का कार्य।

अधिकारियों ने इस ओर नहीं दिया ध्यान


किए जा रहे हैं प्रयास


लाइटिंग के साथ ही कुर्सिंयों की व्यवस्था की जानी थी

तालाब के गहरीकरण के साथ ही हाईवे पर तालाब की पाल पर बीस फीट चौड़ा रोड बनाया गया। यहां पर लाइटिंग के साथ ही कुर्सिंयों की व्यवस्था की जानी थी, ताकि लोग यहां बैठकर तालाब का नजारा देख सकें। वहीं तालाब के बीच में टापू का निर्माण भी किया जाना था और टापू पर छतरी बनती जिसमें बैठने के लिए कुर्सिंया लगाई जानी थी। तालाब की पाल को चौड़ा कर इस पर पाथवे का निर्माण किया जाएगा। ताकि लोग तालाब के चारों ओर घूम सकें।

अधिकारियों को इस दिशा में करना चाहिए पहल


X
Ichawar News - mp news the beautification of the pond is incomplete due to the sdm no one has given attention
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना