पिच्छिका लेने-देने का नहीं, हृदय परिवर्तन का दिवस है: आर्यिका अपूर्व मति माताजी

Sehore News - संयम बहुत दुर्लभ है। संयम का अर्थ होता है नियंत्रण। संयम धारण करने वाले संसार में विरले होते हैं। मिथ्या दृष्टि...

Nov 13, 2019, 06:36 AM IST
Ashta News - mp news the day of change of heart is not of taking or giving a picnic aryika apoorva mati mataji
संयम बहुत दुर्लभ है। संयम का अर्थ होता है नियंत्रण। संयम धारण करने वाले संसार में विरले होते हैं। मिथ्या दृष्टि बहुत संख्या में होते हैं। संयम दो प्रकार का होता है प्राणी संयम और इंद्री संयम। मोक्ष मार्ग में 4 उपकरणों की आवश्यकता होती है। मयूर पिच्छिका कमंडल और शास्त्र बाह्य उपकरण है। आगमानुसार चर्या के लिए संयम के उपकरण आवश्यक होते हैं। विनय संपन्नता से मोक्ष मार्ग प्रशस्त होता है।

यह बातें दिगंबर जैन समाज मंदिर में आयोजित पिच्छिका परिवर्तन कार्यक्रम में आर्यिका अपूर्व मति माताजी ने कहीं। उन्होंने कहा कि आज के समय में संयम का नहीं वरन असंयम के उपकरण टीवी, मोबाइल आदि से मनुष्य का बहुमूल्य जीवन व समय बर्बाद हो रहा है। विषय भोगों का ज्ञान निशुल्क ही मिल जाता है। लौकिक ज्ञान के अर्जन के लिए पूरी दुनिया में भ्रमण कर रहा है। मानव किंतु उसे कुछ प्राप्त नहीं हो पा रहा है। संस्कारों से वह दूर होता जा रहा है।

पिच्छिका परिवर्तन समारोह हुआ: चातुर्मास कर रहे आर्यिका संघ का पिच्छिका परिवर्तन समारोह उत्साह पूर्वक हुआ। अपूर्व मति माताजी ने आशीर्वचन में कहा कि समाज गुरु की आज्ञा का पालन करें और बेटा-बेटी भी अपने माता-पिता की आज्ञा का पालन करें।

आचार्य विद्यासागर महाराज के चित्र का अनावरण व दीप प्रज्वलन विधायक श्री मालवीय नपाध्यक्ष श्री परमार, पूर्व नपाध्यक्ष डॉ. मीना सिंगी, शहीद भगत सिंह कॉलेज जनभागीदारी समिति अध्यक्ष प्रदीप प्रगति, हरेंद्र सिंह ठाकुर, समाज के संरक्षक दिलीप सेठी, अध्यक्ष यतेंद्र जैन, महामंत्री कैलाश जैन, ललित नागौरी, धनरूपमल जैन आदि ने किया। शास्त्र भेंट करने का लाभ महेंद्र मूलचंद जादूगर, व महेंद्र शरद बिंदिया ने प्राप्त किया। आर्यिका अपूर्व मति माताजी को पिच्छी सौंपने के लाभार्थी अंजलि अमित श्रीमोड़, शोभा संतोष जैन, रीना सचिन प्रगति रहे। वहीं उनकी पुरानी पिच्छिका को प्राप्त करने का सौभाग्य लाभार्थी हिमानी शरद जैन भजन गायक रहे।

विधायक ने गो शाला के लिए दिए दो लाख

जीवों की रक्षा के लिए विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय ने गो शाला में दो लाख रुपए की राशि देकर पुण्य अर्जन किया है। इस अवसर पर विधायक श्री मालवीय ने कहा कि संत के समागम से जीवन सफल होता है। माताजी का आशीर्वाद मिला है और हमें मिलता रहेगा। उन्होंने विधायक निधि से आचार्य विद्यासागर गो संवर्धन केंद्र हकीमाबाद के लिए दो लाख रुपए देने की घोषणा की। वहीं नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश परमार ने कहा कि मैंने विधायक श्री मालवीय से गो शाला के लिए दो लाख रुपए देने का निवेदन किया है और उन्होंने विधायक को आश्वस्त किया कि आपके अनुसार नगर में 2 लाख रुपए का कार्य में कहीं भी करवा दूंगा।

X
Ashta News - mp news the day of change of heart is not of taking or giving a picnic aryika apoorva mati mataji
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना