--Advertisement--

श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर छावनी में प्रवचन

श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर छावनी में प्रवचन भास्कर संवाददाता | सीहोर दिगंबर जैन संत आचार्य कनक सागर...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 04:55 AM IST
Sehore - speeches in shri parshvanath digambar jain mandir cantonment
श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर छावनी में प्रवचन

भास्कर संवाददाता | सीहोर

दिगंबर जैन संत आचार्य कनक सागर महाराज के शिष्य आचार्य कंचन सागर महाराज का श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर छावनी में प्रवचन चल रहे हैं। शुक्रवार उन्होंने प्रवचन में कहा कि इंसान को हर वक्त सभी प्राणियों की सुरक्षा करनी चाहिए। जिस प्रकार हम अपनी रक्षा करते हैं वैसे ही सभी की रक्षा करनी चाहिए। मांसाहारी व्यक्तियों के बारे में उन्होंने कहा कि हम रक्षक नहीं बन सकते तो भक्षक बनने का भी अधिकार नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि अगर हम अपने प्राण नहीं दे सकते तो दूसरों के प्राण लेने का अधिकार नहीं है। यदि हमें अपने शरीर का मांस देना पड़े तो भय लगता है। प्राणों की चिंता हो जाती है। जैसे आपको अपनी देह प्रिय है उसी प्रकार जिस जीव का मांस आप भक्षण करते हैं उसे भी अपना जीवन प्यारा होगा। जैसे हम अमूल्य वस्तुएं देकर अपनी देह को बचाते हैं। वैसे ही निरीह प्राणियों को भी बचाना चाहिए। आप क्यो नासमझ बनकर अविवेक का परिचय देते हैं।

तुम जैसा दोगे, वही मिलेगा

उन्हें मौत के घाट क्यों उतारते हो, दूसरों को दुख देना दुख का कारण है। घोर पाप का कारण नरक का द्वार है।

हमेंं इस बात को निरंतर ध्यान में रखना चाहिए कि सब प्राणियों को जीवन प्यारा है। जैसे हमे अपना जीवन प्यारा है। जिस प्रकार हम अपनी रक्षा करते हैं वैसे ही सभी की रक्षा करनी चाहिए। हम जो देते हैं वही पाते हैं। आचार्यश्री के सानिध्य में श्रद्धालुओं ने सुबह श्रीजी अभिषेक शांति धारा नित्य नियम पूजा कर अनुष्ठान किए। शनिवार को चातुर्मास कलश स्थापना में स्थापित कलश को आचार्य श्री के आशीर्वाद से श्रद्धालुओं को कलश प्रदान किए गए।

X
Sehore - speeches in shri parshvanath digambar jain mandir cantonment
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..