--Advertisement--

संस्कृत भाषा सीख देश को बना सकते हैं पूर्ण विकसित

Shajapur News - सम्मेलन में संस्कृत भारती के प्रांत मंत्री ने कहा भास्कर संवाददाता | शाजापुर संस्कृत की वर्तमान अवस्था तथा...

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 03:25 AM IST
संस्कृत भाषा सीख देश को बना सकते हैं पूर्ण विकसित
सम्मेलन में संस्कृत भारती के प्रांत मंत्री ने कहा

भास्कर संवाददाता | शाजापुर

संस्कृत की वर्तमान अवस्था तथा भविष्य में आवश्यकता पर संस्कृत भारती की शाजापुर इकाई ने रविवार को आईटीआई में जनपद सम्मेलन आयोजित किया। शोभायात्रा में युवा विद्यार्थियों ने संस्कृत भाषा की रक्षा और सम्मान के लिए आह्वान स्वरूप नारे लगाए।

गीत, संभाषण, नर्मदाष्टकम् की प्रस्तुतियां दीं। सम्मेलन में मुख्य वक्ता संस्कृत भारती के मालवा प्रांत मंत्री योगेश भोपे (इंदौर) ने उपस्थितजन से कहा संस्कृत केवल भाषा नहीं, अपितु ज्ञान-विज्ञान के भंडार को समझने का सशक्त माध्यम है। संस्कृत भाषा को सीख हम अपने देश को पूर्ण विकसित बना सकते हैं। मुख्य अतिथि आरएसएस के जिला कार्यवाह शैलेंद्र सोनी ने कहा हमारे यहां सारे रिश्ते-संबंध परिवार के बनाए हुए हैं, जिसका आधार संस्कृति है। संस्कृति संस्कृत पर आश्रित है। महेंद्रमोहन सोनी, सशिमं प्राचार्य भोलाराम राजभर, इंदौर से आए संस्कृत भारती के विस्तारक प्रवेश वैष्णव, पलाश पांडे आदि मौजूद रहे। जानकारी संयोजक पं. राजेंद्रप्रकाश व्यास ने दी।

कम्प्यूटर के लिए भी श्रेष्ठ भाषा रहेगी -विभूति

अध्यक्षीय उद्बोधन में सहायक प्राध्यापक व चिंतक डॉ. बी.एस. विभूति बोले- विदेशियों ने संस्कृत को सर्वाधिक वैज्ञानिक भाषा माना है जो आने वाले कम्प्यूटर की श्रेष्ठ भाषा रहेगी। अतः भारतीयों को संस्कृत सीखकर विश्व स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर भुनाना चाहिए। संघ के जिला व्यवस्था प्रमुख योगेश भावसार की मौजूदगी में जिलेभर के विद्वानों ने संस्कृत की वर्तमान अवस्था तथा भविष्य में आवश्यकता पर विचार- विमर्श किया। सम्मेलन स्थल पर वस्तुओं की प्रदर्शनी भी लगाई गई।

संस्कृत भाषा की रक्षा और महत्ता से जुड़े नारे लगाकर रैली में निकले विद्यार्थी।

X
संस्कृत भाषा सीख देश को बना सकते हैं पूर्ण विकसित
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..