--Advertisement--

फिल्म से बताया-गलतफहमी से कैसे बिगड़ता माहौल

चंद्रशेखर आजाद होली उत्सव समिति के मंच से बड़े चौक में वीडियो फिल्म दिखाई गई। इसमें बताया गया कि किस तरह छोटी-सी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:20 AM IST
चंद्रशेखर आजाद होली उत्सव समिति के मंच से बड़े चौक में वीडियो फिल्म दिखाई गई। इसमें बताया गया कि किस तरह छोटी-सी गलतफहमी किसी भी शहर की शांति भंग कर सकती है। दरअसल यह आयोजन जिला पुलिस द्वारा अमन संदेश कार्यक्रम के तहत किया गया। एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान ने आयोजन की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। वहीं विभिन्न सामजिक संगठनों और त्योहारों के समिति पदाधिकारियों ने इस मौके आगामी त्योहारों पर सद्भावना बनी रहने का आश्वासन दिया।

कार्यक्रम की शुरूआत बुधवार शाम 7.30 बजे की गई। जिसमें हिंदू उत्सव समिति के संरक्षक रामू सराफ, पूर्व विधायक पुरुषोत्तम चंद्रवंशी, पूर्व शहर कांग्रेस अध्यक्ष बाबू खां खरखरे, नपा अध्यक्ष प्रतिनिधि क्षितिज भट्ट, होली उत्सव समिति अध्यक्ष नरेश कप्तान ने संबोधित किया।

इस दौरान सभी वक्ताओं ने त्यौहारों को भाईचारे के साथ मनाना ही शहर की सांस्कृतिक पहचान बताई। कार्यक्रम के आखरी वक्ता के रूप में एसपी चौहान ने बताया कि यह आयोजन होली उत्सव को लेकर नहीं है। अपितु हर वक्त परिस्थिति के लिए आयोजित किया जा रहा है। छोटी सी गलत फहमी परेशानी खड़ी कर सकती है। उन्होंने महाभारत का उदाहरण देते हुए युद्ध और लड़ाई झगड़ों के नुकसान की बाते उपस्थितजनों को समझाई।

हम से बना हिंदुस्तान- अमन संदेश की शुरूआत करते हुए एसपी चौहान ने बड़े रोचक अंदाज में हिंदुस्तान की परिभाषा दी। उन्होंने मंच से कहा कि ह से हिंदु और म से मुसलमान मिलकर ही हम बनता है। और हम से हिंदुस्तान। लेकिन यह बात सामान्य आदमी को सही लगेगी, लेकिन खुराफाती और थाेडे समझदार लोग इसमें भी गलत फहमी पैदा कर देंगे।

पुलिसकर्मियों को सराहा- होली उत्सव समिति अध्यक्ष नरेश कप्तान ने अपने संबोधन में कहा कि त्यौहार किसी भी धर्म या समाज का हो, पुलिस हमेशा आमजन की सुरक्षा व्यवस्था में लगी रहती है। त्यौहारों के खत्म होने के बाद ही पुलिस जवान राहत की सांस लेते है। ऐसे में हमा भी अपनी जिम्मेदारियों को निभाएंगे।

शहर के आजाद चौक में वीडियो फिल्म दिखाई, एसपी ने बताई आयोजन की आवश्यकता

आजाद चौक में फिल्म देखते शहरवासी व पुलिसकर्मी।