• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Shajapur
  • न्यायाधीशों ने ग्रामीणों को पढ़ाया कानून का पाठ, हितग्राहियों को मौके पर ही लाभ भी मिला
--Advertisement--

न्यायाधीशों ने ग्रामीणों को पढ़ाया कानून का पाठ, हितग्राहियों को मौके पर ही लाभ भी मिला

आमजन को जागरूक कर उन्हें सशक्त बनाने के उद्देश्य से बुधवार से जिले में नई पहल शुरू हुई। न्यायपालिका और प्रशासन के...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:25 AM IST
आमजन को जागरूक कर उन्हें सशक्त बनाने के उद्देश्य से बुधवार से जिले में नई पहल शुरू हुई। न्यायपालिका और प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में ग्राम भीलसामी (कृषि उपज मंडी बेरछा) परिसर में वृहद लोक कल्याण एवं विधिक सेवा शिविर लगाया गया। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर आयोजित शिविर में न्यायाधीशों ने मौजूद ग्रामीणों को कानूनी रूप से जागरूक करते हुए उन्हें उनके अधिकारों से अवगत कराया। साथ ही पात्र हितग्राहियों काे शासकीय योजनाओं का लाभ भी दिलाया। स्कूली बच्चों को साइकिल तो दिव्यांगों को भी ट्राइसिकल सहित अन्य उपकरण भी वितरित किए।

इस दौरान जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र प्रसाद शर्मा ने कहा शासन की मंशा है कि प्रत्येक जरूरतमंद को शासन की योजनाओं का लाभ मिले। जानकारी के अभाव में कोई भी व्यक्ति योजनाओं के लाभ से वंचित न रहे। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संकल्प लिया गया है कि अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को भी योजनाओं का लाभ मिलें। उन्होंने कहा योजनाओं के संबंध में किसी भी प्रकार की दिक्कत आने पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जरूरतमंदों की मदद करेगा। कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने कहा इस प्रकार का शिविर पहली बार आयोजित हो रहा है। उन्होंने अवगत कराया कि प्रदेश में व्यक्ति के जन्म से पूर्व एवं मृत्यु से बाद तक के लिए योजनाएं हैं। इस मौके पर कलेक्टर ने मुख्यमंत्री भावांतर योजना के बारे में विस्तार से बताया। कलेक्टर ने कहा शासन स्तर से अनेक योजनाएं संचालित होती हैं, लेकिन इसमें आम जनता की भागीदारी अभी कम है। आमजन की भागीदारी बढ़ाने की आवश्यकता है। एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान ने कहा पुलिस के पास अक्सर ग्रामीण क्षेत्रों के लोग आकर जमीन, पारिवारिक, लेनदेन, धोखाधड़ी आदि की समस्याएं एवं शिकायत लाते हैं। ऐसे व्यक्तियों को विधिक सेवा द्वारा समुचित सलाह भी दी जा रही है। जिपं सीईओ वंदना शर्मा ने भी योजनाओं की जानकारी दी। सुबह 10 बजे से शुरू हुआ शिविर शाम करीब 4 बजे तक चला। जिसमें 1200 से अधिक जरूरतमंदों को योजनाओं से लाभान्वित किया गया। इस दौरान अतिरिक्त जिला न्यायाधीश दीपक कुमार पांडेय, सुरेंद्र सिंह गुर्जर, न्यायाधीश संध्या मनोज श्रीवास्तव, न्यायाधीश एवं विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव आलोक प्रताप सिंह मौजूद थे। संचालन हेमंत दुबे ने किया। आभार जिला विधिक सहायता अधिकारी सुरभि सिंह सुमन ने किया।

वृहद लोक कल्याण एवं विधिक सेवा शिविर में मौजूद अधिकारी व ग्रामीण।

दिव्यांगों को ट्राइसिकल सहित अन्य उपकरण वितरित कर हितग्राहियों को लाभ दिया गया।