• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Shajapur
  • Shajapur - डीएड की फीस 60 हजार, जमा कराए 80, प्राचार्य ने 20 हजार और मांगे, मना किया तो फेल करने की धमकी, प्रेक्टिकल में हो गई फेल
--Advertisement--

डीएड की फीस 60 हजार, जमा कराए 80, प्राचार्य ने 20 हजार और मांगे, मना किया तो फेल करने की धमकी, प्रेक्टिकल में हो गई फेल

डीएड (डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन) कराने के नाम पर अवैध वसूली के आरोप शाजापुर के महर्षि कॉलेज के प्राचार्य पर...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 05:20 AM IST
Shajapur - डीएड की फीस 60 हजार, जमा कराए 80, प्राचार्य ने 20 हजार और मांगे, मना किया तो फेल करने की धमकी, प्रेक्टिकल में हो गई फेल
डीएड (डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन) कराने के नाम पर अवैध वसूली के आरोप शाजापुर के महर्षि कॉलेज के प्राचार्य पर लगे हैं। यहां से डीएड करने वाली नेहा के पिता राधेश्याम कराड़ा ने कलेक्टर श्रीकांत बनोठ को आवेदन देकर आरोप लगाया है कि मैंने बेटी के डीएड के लिए 80 हजार रुपए जमा कराए। शिक्षण शुल्क के नाम पर प्राचार्य संगीता सोलंकी ने 20 हजार रुपए और मांगे। मैंने मना किया तो बेटी को फेल करने की धमकी दी। बाद में बेटी को प्रेक्टिकल परीक्षा में फेल भी कर दिया गया।

कराड़ा ने कहा बेटी को फेल कर देने की शंका को लेकर एक माह पहले से ही डाइट प्राचार्य सहित कलेक्टर तक को आवेदन दे दिया था। इसके बाद भई स्थानीय स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। थ्योरी में उसे अच्छे नंबर हैं, लेकिन स्थानीय स्तर से दिए जाने वाले नंबरों में उसे कम नंबर देकर फेल कर दिया गया। कराड़ा ने बताया प्राचार्य द्वारा 20 हजार रुपए मांगने के मामले में मोबाइल लगाकर महाविद्यालय के सहायक संचालक धीरज शर्मा को सूचना दी। उन्होंने भी स्पष्ट रूप से कहा कि अब पैसे देने की जरूरत नहीं है। बावजूद प्राचार्य दबाव बनाती रहीं।

हाई कोर्ट तक नहीं छोडूंगा

राधेश्याम कराड़ा ने कहा समस्या अकेली मेरी बेटी की नहीं है। यहां कॉलेज में हर बच्चे से ऐसे ही वसूली की जा रही है। इसके लिए कॉलेज प्रबंधन एडमिशन लेने के दौरान से ही बच्चों की 10वीं, 12वीं की मार्कशीट सहित अन्य दस्तावेज भी अपने कब्जे में ले लेते हैं। कॉलेज प्रबंधन की इस मनमानी के खिलाफ मैं खुलकर लड़ाई लडूंगा। जरूरत पड़ी तो हाई कोर्ट तक भी जाऊंगा। चित्र में शिकायत लिए ऐसे दफ्तरों के चक्कर लगा रहे नेहा और उसके पिता।

प्राचार्य ने मोबाइल पर दी थी फेल करने की धमकी

छात्रा नेहा ने बताया पूरी फीस जमा कराने के बाद भी प्राचार्य मेडम ने 20 हजार रुपए और मांगे। मेरे पिता ने प्राचार्य मेडम को मोबाइल लगाकर 20 हजार और मांगने का कारण पूछा तो वे गुस्सा हो गईं। कहा कि रुपए तो जमा करना ही पड़ेंगे। नहीं किए तो तुम्हारी बेटी को फेल कर दूंगी।

प्राचार्य ने कहा- रुपए मांगने की शिकायत झूठी है, गुस्से में कहा यह मेरी गलती रही


जांच में दोषी पाया तो कार्रवाई करेंगे


X
Shajapur - डीएड की फीस 60 हजार, जमा कराए 80, प्राचार्य ने 20 हजार और मांगे, मना किया तो फेल करने की धमकी, प्रेक्टिकल में हो गई फेल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..