--Advertisement--

परी के डेरे में ठहरे थे भगवान देवनारायण

शाजापुर | मुख्यालय से 15 किमी दूर परी के डेरे में 8 सितंबर से भागवत कथा चल रही है। ज्ञात रहे यह स्थान गुर्जर समाज का...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 05:20 AM IST
Shajapur - परी के डेरे में ठहरे थे भगवान देवनारायण
शाजापुर | मुख्यालय से 15 किमी दूर परी के डेरे में 8 सितंबर से भागवत कथा चल रही है। ज्ञात रहे यह स्थान गुर्जर समाज का विशेष तीर्थ स्थलों में शुमार है, यहां प्रतिदिन बड़ी संख्या में भक्त पहुंच रहे हैं। सरपंच कमलसिंह और डॉ. श्रीभगवान ने जानकारी बताया सात दिनी कथा का समापन शुक्रवार को होगा। कथा का वाचन विदिशा की सुगनाबाई ने सोमवार को भक्त प्रहलाद की कथा सुनाते हुए कहा यदि शिक्षक सही हो तो राक्षस कुल में पैदा होने वाला बालक भी भक्त बन सकता है। ऐसे भक्तों के लिए भगवान भी हमेशा उदार रहते हैं। जब जब संकट आया, उन्होंने भक्त की मदद करने के लिए इस धरती पर अवतार लिए।

जन्मोत्सव पर भंडारा- मंदिर के पंडा बाबूलाल गुर्जर ने बताया 15 सितंबर को जन्मोत्सव मनाया जाएगा। छठ पर्व के रूप में कार्यक्रम आयोजित करते हुए भंडारा भी होगा। ज्ञात रहे इस स्थान को लेकर मान्यता है कि भगवान देव महाराज इस स्थान पर रहे थे और यहां उन्होंने पशुक्रूरता जैसी कुरीतियों को बंद करने की पहल की थी। इसलिए उन्हें परी का ठाकुरजी भी कहा जाता है।

परी के डेरे में चल रही श्रीमद् भागवत कथा सुनने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।

X
Shajapur - परी के डेरे में ठहरे थे भगवान देवनारायण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..