विज्ञापन

हाईवे नहीं बना तो ठप हो जाएगा कारोबार, दुर्घटनाओं का सिलसिला भी नहीं थमेगा

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:01 AM IST

Shajapur News - भास्कर संवाददाता | आगर-मालवा नेशनल हाईवे को आगर, सुसनेर, सोयत के बजाए उज्जैन के पास से निकालने की जानकारी लगने के...

Susner News - mp news if the highway is not created then business will be stalled there will not be any traffic accident
  • comment
भास्कर संवाददाता | आगर-मालवा

नेशनल हाईवे को आगर, सुसनेर, सोयत के बजाए उज्जैन के पास से निकालने की जानकारी लगने के बाद से नगर के बुद्धिजीवी व्यापारी, अभिभाषक, कर्मचारी सभी आहत हैं। सोशल मीडिया पर लोग अपनी तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। किसी को इस मामले में जनप्रतिनिधियों की नाकामी नजर आ रही है, तो किसी को अधिकारियों की मनमानी, लेकिन सभी लोगों का मत यही है कि नेशनल हाईवे की सौगात आगर जिले को मिलनी चाहिए। ग्रीन बेल्ट का अड़ंगा डालकर इस सुविधा को आगर से नहीं छीना जाना चाहिए।

डेड हो चुका है रोड : अभिभाषक संघ के अध्यक्ष वैभव भटनागर ने कहा शहर व जिलेवासियों द्वारा लंबे समय से रेल लाइन व नेशनल हाईवे की मांग की जा रही है। रेल की मांग, तो जल्द पूरी होती नजर नहीं आती, लेकिन उज्जैन-झालावाड़ मार्ग नेशनल घोषित हो जाने के बाद भी इस सड़क पर नेशनल हाईवे न बनाना समझ से परे है। नेशनल हाईवे की सौगात मिलने पर ही जिले का पिछड़ापन दूर होगा। ट्रांसपोर्टेशन के साधन बढ़ेंगे। ट्रैफिक का दबाव भी इस सड़क पर काफी है। आए दिन दुर्घटनाएं होती है। सड़क पूरी डेड हो चुकी है। ऐसे में जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों को जिले के विकास तथा जानमाल की हानि रोकने के लिए इसी सड़क पर नेशनल हाईवे बनाना चाहिए।

रेल के नक्शे से कटा है आगर, अब सड़क के नक्शे से मत काटो

रेल लाइन उखड़ने के बाद आगर जिलेवासियों को उम्मीद नेशनल हाईवे की थी। वह भी ऐसा लगता है पूरी नहीं होगी। यदि नेशनल हाईवे हमारे क्षेत्र से नहीं निकलता है, तो व्यापार व्यवसाय तो प्रभावित होगा ही नई औद्योगिक इकाइयां भी स्थापित नहीं हो पाएगी। क्योंकि उनकी पहली शर्त आवागमन का बेहतर साधन ही होती है। नेशनल हाईवे की सौगात क्षेत्र को मिलनी चाहिए। यदि नहीं मिली, तो जनआंदोलन भी हो सकता है। - देवीलाल सोनी, अध्यक्ष सोना-चांदी व्यापारी संघ

आगर का हक बनता है

रेल लाइन की मांग हमारी पूरी नहीं हो रही। ऐसे में हमारा हक बनाता है कि हमें नेशनल हाईवे की सौगात मिले। स्वीकृत करने के बाद भी यदि यहां हाईवे नहीं बनाया जा रहा, तो यह जनता के साथ धोखा है। नेशनल हाईवे बनने से व्यापार व्यवसाय बढ़ेगा। आए दिन होने वाली दुर्घटना से लोगों को मुक्ति मिलेगी। हम सभी लोग नगरहित व जिले के हित में चाहते है कि नेशनल हाईवे उज्जैन-झालावाड़ मार्ग पर ही बने। ग्रीन बेल्ट के चक्कर में हमें सुविधा से वंचित करना ठीक नहीं।- राजकुमार सोलंकी, अध्यक्ष कपड़ा व्यापारी संघ

बच्चों के भविष्य से होगा खिलवाड़

आगर भले ही जिला बन चुका है, लेकिन अभी इसका पूरा विकास नहीं हुआ है। रोजगार के साधनों की वैसे ही कमी है। नेशनल हाईवे नहीं बनेगा, तो आवागमन के साधन भी कम हो जाएंगे। बेरोजगारी खत्म नहीं होगी। हमारे परिवार के सदस्य जब भी यात्रा पर जाते हैं, तो मन में डर बना रहता है। क्योंकि सड़क काफी खराब है। रेल सुविधा से वंचित इस जिले को नेशनल हाईवे की सौगात मिलनी चाहिए। चुनाव में भी यह बड़ा मुद्दा रहेगा। यदि नेशनल हाईवे नहीं बना, तो आने वाली पीढ़ी के बच्चों के लिए यह एक प्रकार का खिलवाड़ होगा। - शैलेंद्र कुमार गर्ग, सचिव किराना व्यापारी संघ

व्यवसाय होगा प्रभावित -

अभी हमारे शहर व सोयत, सुसनेर से केवल राजमार्ग निकला है। जिसके कारण ही हजारों लोगों को किसी न किसी प्रकार का रोजगार मिला हुआ है। यदि नेशनल हाईवे इस मार्ग पर नहीं बनता है तो हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, राजस्थान से आने वाले वाहन यहां से नहीं निकलेगें। जो लोग व्यवसाय चला रहे है। उनका व्यवसाय प्रभावित होगा।

- लियाकत खान, अध्यक्ष ट्रक ऑपरेटर यूनियन

X
Susner News - mp news if the highway is not created then business will be stalled there will not be any traffic accident
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन