सवारी ऑटो में ओवर लोड होकर पहुंची बालिकाएं

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

आपसे अपेक्षा-महिलाओं की सुरक्षा आयोजन में शनिवार को एक घंटा देरी से एसपी पहुंचे। उन्होंने शहर की स्कूली छात्राओं, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व महिलाओं के बीच संबोधन में शिकायत पर तुरंत मदद का आश्वासन दिया। बालिकाओं से वन-टू-वन चर्चा कर एसपी ने असहज स्थिति में निर्भिक होकर पुलिस से संपर्क करने की बात कही व सवालों के जवाब भी दिए।

स्थानीय पुलिस द्वारा शुजालपुर के भीलखेड़ी रोड स्थित निर्मल श्री गार्डन में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया था। शनिवार को 11 बजे स्कूली छात्राओं, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व महिलाओं को वाहनों में लाया गया। कार्यक्रम में एसपी एक घंटा देरी से पहुंचे। बालिकाओं को इंतजार करना पड़ा। औपचारिक शुभारंभ के बाद महिला अपराधों में हो रही बढ़ोतरी के चलते जागरूक करने व कानूनी मदद की जानकारी देने रखे आयोजन को सराहनीय बताते हुए निजी स्कूल संचालिका गीता देशमुख, आशा मारवाड़ी सहित अन्य ने अपने विचार रखे।

एसडीओपी वीएस द्विवेदी ने गुड टच और बैड टच के बीच में अंतर समझाने सहित पुलिस द्वारा बालिकाओं-महिलाओं को असहज स्थिति में तत्काल मदद पाने के तरीके के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बालिकाओं से निर्भिक होकर जीवन में आगे बढ़ने व असहज स्थिति में पुलिस की मदद लेने का आह्वान किया।

उपनिरीक्षक प्रेमलता खत्री ने महिलाओं को भारतीय दंड संहिता की धारा के माध्यम से की जाने वाली मदद के बारे में जानकारी दी। एसपी श्रीवास्तव ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग से सचेत रहते हुए सभी से अलर्ट रहकर समाज में निर्भीकता से रहने के लिए कहा । बोले, किसी भी क्षण असुरक्षा व असहजता के आभास होने पर नजदीकी पुलिस थाने की मदद लें। महिला पुलिस अधिकारियों के नंबर भी उपस्थितजनों को सेव कराए गए ताकि आपात स्थिति में मदद की जा सके। एसपी ने आयोजन में बालिकाओं से सीधे संवाद कर उनकी जिज्ञासाओं का समाधान भी किया।

ऑटो में क्षमता से अधिक बालिकाओं को बैठाकर आयोजन स्थल लाए।

आयोजन का शुभारंभ करते एसपी व अन्य अधिकारी।

खबरें और भी हैं...