अजा वर्ग का पोर्टल बंद, छात्रवृत्ति के आवेदन नहीं हो रहे

Shajapur News - विद्यार्थियों को इस तरह मिलता है योजना का लाभ अनुसूचित जनजाति के छात्र.छात्राअाें को कॉलेज में प्रथम वर्ष...

Feb 15, 2020, 09:30 AM IST

विद्यार्थियों को इस तरह मिलता है योजना का लाभ

अनुसूचित जनजाति के छात्र.छात्राअाें को कॉलेज में प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने के बाद शासन की तरफ से छात्रवृत्ति दी जाती है। इससे वे पढ़ाई के लिए आवश्यक किताबें व अन्य शैक्षणिक सामग्री और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकें। समय पर छात्रवृत्ति नहीं मिलने से विद्यार्थियों को परेशानी हो रही है। किराया भत्ता भी शासन की तरफ से दिया जाता है। इसका लाभ विद्यार्थियों को शैक्षणिक सत्र में दो बार दिया जाता है।

शुजालपुर | आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों द्वारा विभिन्न छात्रवृत्ति के लिए एमपी ऑनलाइन के माध्यम से आवेदन किया जाता है। इस बार अनुसूचित जनजाति वर्ग का पोर्टल अलग कर दिया है। इस पोर्टल पर ही इस वर्ग के विद्यार्थी आवेदन कर सकेंगे। पोर्टल नया होने से अभी सही तरीके से काम नहीं कर रहा है। इससे विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति मिलने में देरी हो रही है।

अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों को शासन की तरफ से पढ़ाई और किराये के मकान में रहने के लिए छात्रवृत्ति दी जाती है। इस बार प्रथम और द्वितीय वर्ष के कई छात्र पोर्टल नहीं चलने से अभी तक ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सके हैं। ऐसे में विद्यार्थियों को आर्थिक परेशानियों सामना करना पड़ रहा है। साथ ही इन विद्यार्थियों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। शुजालपुर व आसपास में एसटी के करीब 200 विद्यार्थी कॉलेज और ऑनलाइन सेंटरों के चक्कर काट रहे हैं। विभागीय अधिकारियों के अनुसार अनुसूचित जनजाति के पोर्टल को अन्य छात्रवृत्ति पोर्टल से अलग कर एक नया एमपी पोर्टल बनाया है। कभी सर्वर डाउन तो कभी अन्य काम के चलते समस्या आ रही है। दो-तीन दिन में स्थिति ठीक हो जाएगी। इसके बाद विद्यार्थी आवेदन कर सकेंगे।

छात्रों ने बताया कि शिक्षण सत्र शुरू हुए छह महीने से ज्यादा समय बीत गया है। अभी तक छात्रवृत्ति के आवेदन ऑनलाइन नहीं हो सके हैं। सर्वर डाउन चल रहा था। पिछले साल की भी काफी देरी से मिली है। छात्रवृत्ति की राशि के अभाव में रूम का किराया और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए किताबों की खरीदी भी नहीं कर पा रहे हैं। कोचिंग में दाखिला लेने में भी आर्थिक परेशानी हो रही है। कॉलेज प्रबंधन व ऑनलाइन पोर्टल पर सटीक जानकारी नहीं मिल रही है। कियोस्क संचालक संदीप डामरिया ने बताया पोर्टल धीमा चलता है या बंद रहता है। जेएनएस कालेज के प्रो. नेमीचंद सांखला ने बताया समस्या के बारे में विद्यार्थियों ने जानकारी दी है।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना