• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Shajapur
  • Agar News mp news there were not 15 coaching centers on fire extinguishers most of the classes were closed due to the discharge of their children

15 कोचिंग सेंटरों पर नहीं थे अग्निशामक यंत्र,बच्चों की छुट्टी होने के कारण बंद मिले अधिकांश क्लासेस

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:35 AM IST

Shajapur News - भास्कर संवाददाता | आगर-मालवा सूरत की कोचिंग क्लासेस में हुई आगजनी की घटना के 20 दिन बाद आगर में कोचिंग क्लासेस की...

Agar News - mp news there were not 15 coaching centers on fire extinguishers most of the classes were closed due to the discharge of their children
भास्कर संवाददाता | आगर-मालवा

सूरत की कोचिंग क्लासेस में हुई आगजनी की घटना के 20 दिन बाद आगर में कोचिंग क्लासेस की जांच की गई। लेकिन स्कूलों की छुट्टियां होने के कारण अधिकांश कोचिंग क्लासेस निरीक्षण करने वाले अधिकारियों को बंद मिली। जिले मंे केवल 15 ऐसी कोचिंग क्लासेस ही अधिकारियों को चालू मिली। जिनमें बच्चों को काम्पीटिशन एक्जाम की तैयारी कराई जा रही थी।

जबकि आगर में ही 25 से अधिक कोचिंग क्लासेस हैं। इनमें कक्षा 1 से लेकर काॅलेज तक के बच्चों को पढ़ाया जाता हैं, लेकिन ग्रीष्मकालीन अवकाश होने के कारण ये सभी कोचिंग क्लासेस बंद थे। सूत्रों की माने, तो सूरत की घटना के बाद कई संचालकों ने तो अपने यहां लगे बेनर-पोस्टर भी हटा लिए हंै। शिक्षा विभाग में बड़ौद, सुसनेर, नलखेड़ा में बीईओ के माध्यम से संस्थाओं की जांच कराई थी। जबकि आगर में बीईओ के साथ प्रभारी डीईओ ओमप्रकाश सिंह तोमर ने भी निरीक्षण किया था।

सुबह से रात 8 बजे तक ही खुलेंगे कोचिंग सेंटर -शहर में कई कोचिंग क्लासेस ऐसी हैं जिसके संचालक सुबह साढ़े 4 बजे से बच्चों को पढ़ाना शुरू कर देते हैं जो रात की 10 व 11 बजे तक चलती हंै। कई जागरूक लोगों का कहना है कि सुबह साढ़े 4 बजे से शुरू होने वाली इन क्लासों में जाने के लिए बालिकाओं को 4 बजे घर से निकलना पड़ता है। वहीं रात 10 बजे क्लास खत्म होने पर बालिकाएं साढ़े 10 तक घर पहुंचती है। ऐसे में बालिकाओं की सुरक्षा सबसे चिंता की बात है। एसपी सविता सोहाने के सामने भी पत्रकारों ने मामले को उठाया था।

जानकारी के अनुसार पुलिस व प्रशासन कोचिंग क्लासेस संचालकों की जल्द ही मीटिंग बुलाएगा तथा उन्हें यह निर्देश दिए जाएंगे कि सुबह 6 से रात 8 बजे तक ही क्लास चलाई जाए। क्लासों में आने वाले बच्चों की सुरक्षा को लेकर भी चर्चा होगी।

इसमें सीसीटीवी कैमरे के अलावा पॉर्किंग, पानी तथा सुरक्षा के लिए पाइंट लगाए जाने पर भी बात की जाएगी।

कोचिंग क्लासेस की जांच करते प्रभारी डीईओ व बीईओ।

तीन दिन में आग बुझाने वाले उपकरण लगाने के निर्देश

निरीक्षण करने पहुंचे अधिकारी उस समय हैरान रह गए जब उन्हें सभी 15 संस्थाओं में आग बुझाने वाले उपकरण नहीं मिलेे। जब अिधकारियों ने उनसे इस संबंध में पूछा तो कोई भी जवाब नहीं दे पाया। अधिकारियों ने तीन दिन में इस उपकरण को लगाने के निर्देश संचालकों को दिए हैं। गाइड लाइन के अनुसार क्लासेस, ग्राउंड फ्लोर पर थी। फर्नीचर, लाइट, पंखे, वेन्टीलेशन आदि उनमें पाए गए।

निर्देश दिए गए हंै


X
Agar News - mp news there were not 15 coaching centers on fire extinguishers most of the classes were closed due to the discharge of their children
COMMENT