Hindi News »Madhya Pradesh »Sheopur» हाईवे और तिराहे पर कचरा फेंकने पर दुकानदारों पर बिफरे लाेग, किया विरोध

हाईवे और तिराहे पर कचरा फेंकने पर दुकानदारों पर बिफरे लाेग, किया विरोध

हाईवे पर हो रहे गड्ढों में भरा पानी और कचरा फेंकने के कारण करियादेह तिराहे की दुर्दशा। जनपद सीईओ से बोले लोग...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 03:25 AM IST

हाईवे और तिराहे पर कचरा फेंकने पर दुकानदारों पर बिफरे लाेग, किया विरोध
हाईवे पर हो रहे गड्ढों में भरा पानी और कचरा फेंकने के कारण करियादेह तिराहे की दुर्दशा।

जनपद सीईओ से बोले लोग -गंदगी फैलाने वालों पर कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन करेंगे

कराहल निवासी निहाल सिंह जाट , प्रमोद सिसौदिया ने जनपद पंचायत सीईओ को करियादेह तिराहे पर फैल रही गंदगी की समस्या से अवगत कराते हुए गंदगी फैलाने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की आवश्यकता बताई है। ताकि स्वच्छ परिवेश में जीने के लोगों के अधिकार की रक्षा हो सके। करियादेह तिराहे पर खुदी पड़ी सड़क को दुरुस्त कराने की मांग भी की है। शिकायतकर्ताओं का कहना है कि अगर प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो करियादेह के सभी निवासी मिलकर आंदोलन को बाध्य हो जाएंगे।

बड़े-बड़े गड्ढे हो गए, हादसे की आशंका

कराहल कस्बे में करियादेह रोड पर जलभराव के कारण बड़े बड़े गड्ढे दिनोंदिन खतरनाक हो रहे हैं। इसी जगह श्योपुर-शिवपुरी हाईवे मिलता है। जहां प्रतिदिन हजारों लोग आवागमन करते हैं। कई महीने से पूरा रोड खुदा पड़ा है। गड्ढों में कीचड़ व पानी भरने से वाहन चालक गहराई का सही अनुमान नहीं लगा पाते हैं और हादसे का शिकार हो जाते हैं। कस्बे सहित आसपास गांव से खरीदारी करने आने वाले ग्रामीण हर पल हादसे को लेकर आशंकित रहते हैं। इसी जगह पर हादसे में अब तक कई लोग जख्मी हो गए तो कई लोगों की मौत हो चुकी है। लोगों का कहना है कि सड़क विकास प्राधिकरण से लेकर प्रशासन के अधिकारियों से मांग करने के बावजूद जर्जर हाईवे की मरम्मत की पहल नहीं हुई है। शायद कोई गंभीर हादसा होने के बाद ही जिम्मेदार अधिकारी नींद से जाएंगेे।

मेरी नहीं सुनते अधिकारी

पूरे कराहल कस्बे में आबादी कॉलोनी में पानी भरने और गंदगी की समस्या जटिल हो गई है। कस्बे के 13 वार्डों में बरसों से सफाई के अभाव में कचरे के अंबार के बीच लोग जीने को मजबूर हो रहे हैं। करियादेह तिराहे पर समस्या ज्यादा है। कस्बे की सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए लगातार प्रयास कर रहा हूं। लेकिन मेरी कोई अधिकारी सुनते ही नहीं है। परमानंद आदिवासी, सरपंच, कराहल

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sheopur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×