• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sheopur
  • प्रतिबंध के बाद भी दोनी नदी से वाटर पंप लगाकर सिंचाई के लिए चोरी कर रहे पानी
--Advertisement--

प्रतिबंध के बाद भी दोनी नदी से वाटर पंप लगाकर सिंचाई के लिए चोरी कर रहे पानी

जिले में नदी तालाब से सिंचाई पर प्रतिबंध संबंधी आदेश का पालन कराने में जिम्मेदार अधिकारी कोई रुचि नहीं दिखा रहे...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:00 AM IST
प्रतिबंध के बाद भी दोनी नदी से वाटर पंप लगाकर सिंचाई के लिए चोरी कर रहे पानी
जिले में नदी तालाब से सिंचाई पर प्रतिबंध संबंधी आदेश का पालन कराने में जिम्मेदार अधिकारी कोई रुचि नहीं दिखा रहे हैं। ढोढर क्षेत्र में बहने वाली दोनी नदी किनारे लगभग 45 किलोमीटर लंबे दायरे में जगह-जगह वाटर पंपों से नदी का पानी खेतों में उलीचा जा रहा है। टर्राकलां से लेकर मिलावली तक चोरी के पानी से सैकड़ों बीघा रकबे में गेहूं, चना एवं सरसोंं की फसल लहलहा गई है। पिछले माह पांच गांव के ग्रामीणों ने नदी से सिंचाई पर पुख्ता रोक लगाने के लिए वाटर पंपों का जब्त करने की कार्रवाई की मांग जिला प्रशासन से की थी। लेकिन एक माह बाद भी जल संसाधन विभाग के अफसरोंं ने कार्रवाई की जरूरत नहीं समझी है। दिसंबर से अब तक दोनी नदी का जल स्तर 4 फीट गिर चुका है। टर्राकलां से मिलावली के बीच वर्तमान में दोनी नदी में दो फीट पानी शेष रह गया है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि प्रशासन ने जल्द ठोस कार्रवाई नहीं की तो मार्च में ही नदी सूखने के साथ इलाके में जल संकट विकराल हो जाएगा। पांच गांव में भूजल संकट गहराने के साथ ही मवेशियों के लिए पेयजल की भारी किल्लत के आसार बताए गए हैं।

दोनी नदी सिरोनी के जंगल से निकलकर कर ग्राम खेरोदा के पास चंबल नदी में मिलती है। दोनी नदी इलाके में भूजल रीजार्च करने में अहम भूमिका निभाने के साथ ही गर्मियों में हजारों मवेशियों ी प्यास बुझाने का प्रमुख जरिया है। जिला प्रशासन द्वारा गत सितंबर माह में पूरा जिला जल अभावग्रस्त घोषित करने के साथ ही पेयजल परिरक्षण अधिनियम के तहत सभी नदी तालाबों से सिंचाई पर पाबंदी लगाई गई है। ग्रामीणों का कहना है कि सिंचाई पर प्रतिबंध संबंधी कलेक्टर के आदेश का पालन कराने के प्रति विभागीय अधिकारी संजीदा नहीं है। स्वार्थी किसानों द्वारा टर्राकलां से लेकर मिलावली तक नदी के तटवर्ती क्षेत्र में खेती के लिए नदी जल का अंधाधुंध इस्तेमाल किया जा रहा है। वर्तमान में 400 से अधिक स्थानों पर वाटर पंपों के जरिए नदी का पानी खेतों में सप्लाई हो रहा है। गर्मियों में आसन्न जल संकट को देखते हुए बीते माह ग्रामीणों ने श्योपुर जाकर इस संबंध में कलेक्टर को आवेदन देकर अवैध सिंचाई कार्य में लगे वाटर पंपों को जब्त करने की मांग की थी। लेकिन चालू सीजन में विभागीय अधिकारियों ने एक भी वाटर पंप जब्त करने की कार्रवाई नहीं की है। अवैध रूप से सिंचाई करने वाले किसानों पर कोई कार्रवाई नहीं होने से धड़ल्ले से दिनरात वाटर पंप चलाए जा रहे हैं। जिससे नदी का जलस्तर गिरने के साथ ही ग्राम टर्राकलां, किन्नपुरा, टर्राखुर्द, खैरोदा, मिलावली के ग्रामीणों की मुश्किलें दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। ग्रामीणों ने बताया कि यदि जिला प्रशासन ने जल्द ही सिंचाई पर रोक नहीं लगाई तो इस बार मार्च से पहले ही दोनी नदी पूरी तरह सूख जाएगी।

ग्राम टर्राकलां के पास फसलों की सिंचाई के लिए दोनी नदी से पंप के द्वारा लिया जा रहा पानी।

16 हजार मवेशियों के लिए पेयजल संकट के आसार

दोनी नदी से बेरोकटोक अवैध सिंचाई के चलते तटवर्ती क्षेत्र के पशुपालकों की चिंताएं बढ़ती जा रही है। ग्राम टर्राकलां, किन्नपुरा, टर्राखुर्द, खैरोदा, मिलावली में 16 हजार पशुओं के लिए पेयजल की किल्लत गहराने की आशंका ग्रामीणों ने जताई है। गर्मी से पहले नदी सूखने का असर तमाम पेयजल स्रोतों पर भी पड़ेगा। पशुओं के लिए पानी की चिंता अभी से ग्रामीणों को परेशान कर रही है।

इधर... चंबल नहर का पानी छोड़ने से सीप नदी का जलस्तर बढ़ा

पशुओं को पेयजल एवं ग्रामीणों के निस्तार के लिए चंबल दाहिनी मुख्य नहर का पानी सीप नदी में छोड़ा जा रहा है। जिससे मानपुर में सीप नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। पिछले सप्ताह की तुलना में सीप नदी का जलस्तर एक फीट बढ़ गया है। नदी का जलस्तर बढऩे से तटवर्ती क्षेत्र के 16 गांव के लोग खुश है। इस बार दिसंबर में ही सीप नदी के तेजी से घटते जल स्तर को देखकर चिंतित मानपुर क्षेत्र के सरपंचों ने पिछले दिनों एक सामूहिक मांगपत्र कलेक्टर पन्नालाल सोलंकी एवं क्षेत्रीय विधायक दुर्गालाल विजय को देकर चंबल नहर का पानी सीप नदी में छोड़े जाने की महती जरूरत बताई थी। ग्राम मातासूला के पास चंबल नदी का पानी सीप नदी में छोड़ा जा रहा है। जिससे मानपुर से लेकर ग्राम माकड़ौद तक सीप नदी का नजारा बदल रहा है।

एसडीओ को मौके पर भेजकर कराएंगे कार्रवाई


X
प्रतिबंध के बाद भी दोनी नदी से वाटर पंप लगाकर सिंचाई के लिए चोरी कर रहे पानी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..