• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sheopur
  • बोनस तो समर्थन मूल्य पर फसल बेचने दोगुने किसानों ने कराया पंजीयन
--Advertisement--

बोनस तो समर्थन मूल्य पर फसल बेचने दोगुने किसानों ने कराया पंजीयन

गेहूं की कटाई करते किसान व मजदूर। मंडी का भी दो गुना बढ़ेगा टैक्स श्योपुर की कृषि उपज मंडी दो साल पहले तक...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 04:40 AM IST
बोनस तो समर्थन मूल्य पर फसल बेचने दोगुने किसानों ने कराया पंजीयन
गेहूं की कटाई करते किसान व मजदूर।

मंडी का भी दो गुना बढ़ेगा टैक्स

श्योपुर की कृषि उपज मंडी दो साल पहले तक प्रदेश की ए ग्रेड मंडियों में शामिल थी, लेकिन भाव कम मिलने के कारण किसान मंडी में फसल बेचने न जाते हुए राजस्थान में फसल बेच रहे थे। जिससे मंडी टैक्स में 8 करोड़ से गिरकर 4 करोड़ रुपए की टैक्स से आवक रह गई। इसके अलावा समर्थन मूल्य पर भी किसानों की संख्या घटने गेहूं खरीदी के समय में मंडी को मिलने वाले टैक्स 4 करोड़ रुपए की राशि भी आधी रह गई। लेकिन इस बार किसानों की संख्या में समर्थन मूल्य पर दो गुना इजाफा हुआ है, जिससे मंडी की आय यानी टैक्स में दो गुनी वृद्धि होगी। हालांकि इसके बाद भी मंडी सी ग्रेड से वापस ए ग्रेड में शामिल नहीं हो पाएगी, पर राजस्व बढ़ोत्तरी से मंडी समिति को फायदा जरूर होगा।

भावांतर में 14022 किसानों ने कराए पंजीयन

प्रदेश सरकार ने भावांतर योजना में गेहूं के अलावा अन्य फसलों को जगह दी है, जिसमें किसानों के पंजीयनों की प्रक्रिया 31 मार्च को पूरी हो गई है। इसमें भावांतर के तहत मंडी में फसल बेचने के लिए 14 हजार 22 किसानों ने पंजीयन कराए है। जिसमें चना की फसल बेचने के लिए 11 हजार 313, सरसों की फसल बेचने के लिए 2694 और मसूर के 15 किसानों ने पंजीयन कराए। जिनसे इस माह में मंडी में खरीदी शुरू कर दी जाएगी और मॉडल रेट जारी होने के साथ किसानों को भावांतर के तहत राशि का भुगतान किया जाएगा।

X
बोनस तो समर्थन मूल्य पर फसल बेचने दोगुने किसानों ने कराया पंजीयन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..