• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sheopur
  • बजट ने किया निराश, न 35 गांवों मेंे नहर मंजूर की गई न चेंटीखेड़ा बांध के लिए दिया पैसा
--Advertisement--

बजट ने किया निराश, न 35 गांवों मेंे नहर मंजूर की गई न चेंटीखेड़ा बांध के लिए दिया पैसा

Sheopur News - ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सब स्टेशन बनाने के लिए भी पैसा नहीं मिला भास्कर संवाददाता | श्योपुर वित्त मंत्री...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 05:25 AM IST
बजट ने किया निराश, न 35 गांवों मेंे नहर मंजूर की गई न चेंटीखेड़ा बांध के लिए दिया पैसा
ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सब स्टेशन बनाने के लिए भी पैसा नहीं मिला

भास्कर संवाददाता | श्योपुर

वित्त मंत्री जयंत मलैया ने विधानसभा में बुधवार को शिवराज सरकार का आखिरी बजट पेश किया। यह बजट श्योपुर जिले के लिए निराश करने वाला रहा क्योंकि बजट में न 35 गांवों को चंबल नहर से जोड़ने के लिए नहर की मंजूरी दी गई न चेंटीखेड़ा बांध निर्माण के लिए मंजूर किया गया। हालांकि बजट में दो स्टॉप डैम के लिए 8.86 करोड़ और दो सड़कों के लिए करीब 3 करोड़ रुपए की मंजूरी दी गई है।

श्योपुर कृषि प्रधान जिला है। इस कारण लोगों को उम्मीद थी कि सिंचाई परियोजना के दो बड़े प्रोजेक्ट 35 गांव को चंबल नहर से जोड़ने के लिए नहर और 33 ग्राम पंचायतों के लिए चेंटीखेड़ा बांध निर्माण के लिए पैसा मंजूर होगा। 35 गांवों की डीपीआर अभी सरकार तक ही नहीं पहुंची। एक साल पहले तकनीकी स्वीकृति मिलने के बाद भी चेंटीखेड़ा बांध के लिए सरकार ने बजट में कुछ नहीं दिया। जल संसाधन मंत्री बांध बनाने के लिए 330 करोड़ रुपए जारी करने का आश्वासन मार्च 2017 में ही दे चुके हैं। इसके बाद भी बजट से निराशा ही हाथ लगी। हालांकि बजट में श्योपुर जिले में दो स्टॉप डैम के लिए 8.86 करोड़ और दो सड़कों के लिए करीब 3 करोड़ रुपए की मंजूरी दी गई है। इसके अलावा श्योपुर जिले को कुछ खास नहीं मिल सका है।

05 करोड़ 58 लाख 4 हजार रुपए तेहला स्टॉप डैम के लिए किए स्वीकृत

यह भी मिला




बजट में इनके लिए कुछ नहीं मिला

ऋण समाधान योजना से किसानों को होगा लाभ

प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों में हजाराें किसान सदस्य फसल ऋण समय पर नहीं चुकाने के कारण डिफाल्टर हैं। ऐेसे में किसानों को संस्थागत ऋण सुविधा नहीं मिल पा रही है। इस सुविधा से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना प्रारंभ हो रही है। श्योपुर के हजारों डिफाॅल्टर किसानों को इसका लाभ होगा। कृषक समृद्धि योजना प्रारंभ की जा रही है। गेहूं व धान पर किसानों को प्रति क्विंटल 200 रुपए प्रोत्साहन राशि मिलेगी। इसके लिए बजट में 3 हजार 650 करोड़ का प्रावधान किया गया है। श्योपुर में धान व गेहूं की खेती अधिक होती है। इससे किसानों को फायदा होगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत खरीफ 2016 की बीमा दावा राशि लगभग 1 हजार 660 करोड़ का भुगतान किसानों को मिलेगा। अगले साल के लिए 2 हजार करोड़ का प्रावधान है।

चेटीखेड़ा बाधं की मांग को लेकर बुधवार को धरने पर बैठीं महिलाएं।

35 गांव की नहर व चेंटीखेड़ा बांध के अलावा श्योपुर जिले में रघुनाथपुर में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कराहल व वीरपुर को नगर परिषद, वीरपुर में सरकारी कॉलेज, कराहल में 132 केवीए का सब स्टेशन सहित अन्य छोटे-छोटे स्टॉप डैम आदि के लिए भी बजट में कुछ भी नहीं दिया गया है।

03 करोड़ 29 लाख 70 हजार बर्धा बुजुर्ग काजवे कम स्टॉप डैम के लिए स्वीकृत

कुपोषण व पानी पर करोड़ों खर्च, बेहतर कुछ भी नहीं



01 करोड़ 18 लाख 38 हजार काठौर रोड से बरगवां तक सड़क के लिए स्वीकृत

चेंटीखेड़ा बांध: किसान दे रहे हैं धरना

चेंटीखेड़ा बांध की मांग को लेकर विजयपुर मे किसानों का धरना बुधवार को भी जारी रहा। धरने के दौरान किसानों को जब पता चला कि बजट में बांध के लिए कुछ भी नहीं दिया गया तो किसान भाजपा सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर करते नजर आए। इसी तरह 35 गांव के किसानों को भी निराशा हाथ लगी है।

88 नई सेवाओं का ऑनलाइन लाभ

जिले में लोक सेवा केंद्र संचालित हैं। लोक सेवा गारंटी अधिनियम 177 ऑनलाइन सेवाओं के बाद अब 88 नई सेवाएं जोड़ी जाएंगी। इससे जिले के नागरिकों को लाभ होगा।

35 गांव के लिए कुछ भी नहीं दिया


सिंचाई के लिए कुछ न कुछ मिलेगा


01 करोड़ 79 लाख 54 हजार रघुनाथपुर से कतरनीपुरा तक सड़क के लिए स्वीकृत

X
बजट ने किया निराश, न 35 गांवों मेंे नहर मंजूर की गई न चेंटीखेड़ा बांध के लिए दिया पैसा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..