• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sheopur
  • Sheour - सवर्ण-पिछड़ों के विरोध के डर से जनता दरबार में शामिल नहीं होंगे जिले के दोनों विधायक
--Advertisement--

सवर्ण-पिछड़ों के विरोध के डर से जनता दरबार में शामिल नहीं होंगे जिले के दोनों विधायक

शहर के श्री हजारेश्वर पार्क में जेसीआई के तत्वाधान में 13 सितंबर को रखे गए जनता की अदालत कार्यक्रम में सवर्णों की...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:25 AM IST
शहर के श्री हजारेश्वर पार्क में जेसीआई के तत्वाधान में 13 सितंबर को रखे गए जनता की अदालत कार्यक्रम में सवर्णों की नाराजगी सामने आ सकती है। यही कारण है कि जिले के दोनों भाजपा-कांग्रेस के विधायक जनता दरबार में शामिल नहीं होंगे। विधायकों को एससी-एसटी कानून को लेकर सवर्णों के ताजा आक्रोश को देखते हुए विरोध का डर सता रहा है। हालांकि विधायकों ने कार्यक्रम में शामिल नहीं होने की वजह निजी कारण बताए हैं, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि वे सवर्णों के आक्रोश के चलते ही कार्यक्रम में शामिल होने से किनारा कर रहे हैं। विधायकों ने अायोजकों को भी कार्यक्रम में शामिल न हो पाने से इंकार कर दिया है। विधायकों के न आने की वजह से जनता दरबार निरस्त किया जा सकता है।

जेसीआई ने 13 सितंबर की रात 8 बजे से जनता दरबार का आयोजन रखा था। इस कार्यक्रम में जनता के सवालों का जवाब देने के लिए जेसीआई ने श्योपुर विधानसभा के भाजपा विधायक दुर्गालाल विजय व विजयपुर के कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत को बुलाया था। मौजूदा वक्त में एससी-एसटी कानून को लेकर सवर्णों में काफी नाराजगी है। 6 सितंबर को सवर्णों के बंद के दिन भी भाजपा और कांग्रेस के विधायकों को पब्लिक के गुस्से का सामना करना पड़ा था। यही कारण है कि जनता के आक्रोश को देखते हुए विधायक फिलहाल सार्वजनिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने से किनारा कर रहे हैं।

50 फीसदी सवाल सिर्फ एससी-एसटी कानून पर

यहां बता दें कि जनता दरबार में सवालों का जवाब देने के लिए दोनों विधायकों को बुलाया गया है। जेसीआई ने इसके लिए विधायकों से सवाल पूछने के लिए लोगों के बीच पर्चे बांटे हैं। खास बात यह है कि अब तक 50 फीसदी सवाल सिर्फ एससी-एसटी कानून को लेकर ही सामने आए हैं। जाहिर है कि लोगों में इस कानून को लेकर विधायकों से उनका पक्ष जानने की जबरदस्त उत्सुकता है। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सवर्णों के जुटने का अनुमान के चलते ही विधायकों ने इसमें शामिल होने से किनारा कर लिया है।


मैं भोपाल में बिजी हूं...


मैं पार्टी की बैठक में व्यस्त हूं


विधायको को बुलाया था