एक गांव ऐसा भी जहां कोई न शराब पीता है न मांस खाता है

Sheopur News - शराबबंदी को लेकर तो कई गांव आगे आए हैं। श्योपुर में कई गांवाें में शराब पर पूर्णत: प्रतिबंध भी है। लेकिन श्योपुर...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 09:11 AM IST
Sheour News - mp news a village where no one drinks alcohol or eats meat
शराबबंदी को लेकर तो कई गांव आगे आए हैं। श्योपुर में कई गांवाें में शराब पर पूर्णत: प्रतिबंध भी है। लेकिन श्योपुर में एक ऐसा गांव भी है, जहां शराब के साथ मांस अाैर मछली भी प्रतिबंधित है। यह अनोखा गांव शहर से महज 23 किमी की दूरी पर बसा 2500 की अाबादी वाला मेवाड़ा गांव है। मेवाड़ा गांव में शराब के साथ मांस-मछली पर भी प्रतिबंध है।

ग्रामीणों की मानें तो इस प्रतिबंध का कारण 150 साल पहले गांव आए पीर बाबा है। जिनकी समाधि यानी दरगाह भी गांव में ही है। बाबा के उद्देश्यों का पालन करते हुए पूरे गांव ने शराब व मांस का सेवन नहीं करने का प्रण लिया। इसके साथ एक नियम भी बनाया कि, अगर गांव में कोई भी व्यक्ति शराब या मांस का सेवन करेगा तो उसे गांव से बाहर निकाल दिया जाएगा। लेकिन जब से मांस पर प्रतिबंध लगा किसी ने भी इसे ताेड़ा नहीं। इसके साथ ही हमारे गांव में आने वाले लोगों को भी हम लोग इस नियम के बारे में पहले ही बता देते हैं।

परी बाबा की दरगाह पर हर साल लगता है मेला

गांव में बनी पीर बाबा की दरगाह पर हर साल मेला भरता है। यह मेला गुरू पूर्णिमा को लगाया जाता है। इसमें िहन्दू-मुस्लिम सभी धर्मों के लोग आस्था के साथ शामिल होते हैं। इस दिन गांव में लड्‌डू-बाटी बनाई जाती है, जिसका भोग दरगाह पर लगाया जाता है। इस मेले में शहर से भी कई लोग जाकर भागीदारी करते हैं। गांव के बुजुर्ग हरी राम मीणा ने बताया कि, गांव में उन्होंने आज तक किसी काे भी शराब व मांस का सेवन करते नहीं देखा। इसके अलावा शादी-विवाह सहित तीज-त्योहारों पर भी शराब नहीं पीने दिया जाता है। बारात में आने वाले लोगों को इस बारे में पहले ही बता दिया जाता है ताकि, बाद में कोई विवाद न हो।

मेवाड़ा में दरगाह पर खड़े लोग

X
Sheour News - mp news a village where no one drinks alcohol or eats meat
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना