पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रकबा बढ़ाकर 22 लोगों के नाम कर दी सरकारी जमीन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

एसडीएम कोर्ट ने निरस्त की जमीन के अमल की प्रवृष्टि

ढोढर क्षेत्र के बगदिया हल्के में पटवारियों ने अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए आरक्षित सरकारी भूमि का रकबा बढ़ा दिया और 22 दूसरे गैर अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों के नाम करते हुए खसरों में प्रवृष्टि भी चढ़ा दी। शिकायत के बाद मामला खुला तो जांच की गई, जिसमें पटवारियों द्वारा किया गया पूरा फर्जीवाड़ा खुलकर सामने आ गया।

बगदिया गांव में भूमि सर्वे नंबर 76, 77, 85, 138, 139 में पटवारियों ने रकबा 69 हेक्टेयर अधिक बढ़ाकर 13 लोगों के नाम जमीन कर दी। यह भूमि सरकारी होने के साथ अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित थी, जबकि इस पर दूसरे समाज के लोगों के नाम खसरे-खतौनी में दर्ज कर दिए गए। यहां सर्वे नंबर 76 में मूल रकबा 40.734 हेक्टेयर को बढ़ाकर 53.003 हेक्टेयर, सर्वे नंबर 77 का मूल रकबा 48.781 हेक्टेयर से बढ़ाकर 88.224 हेक्टेयर, सर्वे क्रमांक 85 का रकबा 28.602 हेक्टेयर से बढ़ाकर 32.065 हेक्टेयर, सर्वे क्रमांक 138 का रकबा 55.552 हेक्टेयर को बढ़ाकर 64.792 हेक्टेयर, सर्वे क्रमांक 139 का रकबा 32.779 से बढ़ाकर 37.539 हेक्टेयर कर दिया गया। जिसमें सर्वे क्रमांक 76 में रामसिंह, जगदीश गुर्जर, मांगीबाई, हंसादेवी ठाकुर, देवेंद्र कवर ठाकुर, बलवीर गुर्जर, राजू गुर्जर, ममता ठाकुर, देवेन्द्र कवर प|ी सुरेश सिंह ठाकुर और सर्वे क्रमांक 85 में रामनिवास, जग्गू ठाकुर, कोरानी ठाकुर, नंद सिंह ठाकुर, रामसिंह, जगदीश गुर्जर, ममता ठाकुर, अमरसिंह ठाकुर, सुशीला ठाकुर, देवेंद्र सिंह ठाकुर व सर्वे क्रमांक 76 में महाराज सिंह, प्रेम बाई, गोविंद सिंह, हेम कंवर, शांति गुर्जर के नाम दर्ज कर दिए गए।

जिनके नाम जांच के बाद हटाए गए, वहीं मामले में पटवारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। इसके साथ निगरानी के लिए नायब तहसीलदार को आदेशित किया गया है।

खबरें और भी हैं...