विज्ञापन

ऋण माफी: एक हजार किसानों ने जताई आपत्ति, सबसे ज्यादा शिकायतें अधिक कर्ज बताने की

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 04:42 AM IST

Sheopur News - कर्ज माफी के रथ को हरीझंडी दिखाते विधायक बाबूलाल जंडेल। गुलाबी फॉर्म की अभी छंटनी नहीं हुई

Sheour News - mp news debt waiver one thousand farmers protested most complaints to tell more debt
  • comment
कर्ज माफी के रथ को हरीझंडी दिखाते विधायक बाबूलाल जंडेल।

गुलाबी फॉर्म की अभी छंटनी नहीं हुई


तीन उदाहरण, इन्होंने गुलाबी फॉर्म भरकर दर्ज कराई आपत्ति, लेकिन जांच शुरू नहीं...

1. 1.63 लाख कर्ज, बैंक ने बताया 3.11 लाख का कर्जदार

गुरुनावदा निवासी किसान रामकुमार मीणा ने एसबीआई से कर्ज लिया था। उन्होंने केसीसी पर 1.57 लाख रुपए का कर्जा लिया। जब फसल ऋण माफी के तहत पंचायत में सूची चस्पा हुई तो उसमें रामकुमार मीणा पर 1.63 लाख रुपए का कर्ज बताया गया। बाद में उन्हें बैंक से जानकारी मिली कि उनका कर्ज 1.63 लाख रुपए नहीं बल्कि 3.11 लाख रुपए है। ऐसे में अब किसान की चिंता बढ़ गई है कि, उसका कर्ज इतना कैसे हो गया। इसे लेकर उन्होंने गुलाबी फॉर्म भरकर आपत्ति दर्ज कराई है।

2. कर्ज लिया ही नहीं और आ गया सूची में नाम:

लूंड गांव निवासी कान्हा पुत्र बद्रीलाल के नाम जमीन तो है, पर किसान ने न सहकारी संस्था से कोई कर्जा लिया न अन्य किसी बैंक से। पंचायत में जब सूची चस्पा हुई तो उसमें कान्हा को 1.50 लाख रुपए का कर्जदार बता दिया गया। इससे वे परेशान हो गए और जानकारी लेने पंचायत पहुंचे, लेकिन उन्हें कोई बताने वाला नहीं मिला कि सूची में आखिरकार उसका नाम आया कैसे? अब उन्होंने गुलाबी फॉर्म भरकर आपत्ति दर्ज कराई है।

3. 2.9 लाख का कर्ज, सूची में 90 हजार ज्यादा

भसुंदर गांव निवासी मूड़ीलाल पुत्र मथुरालाल मीणा ने एसबीआई से 2.90 लाख रुपए का कर्ज लिया, जो अब बढ़कर 4.52 लाख रुपए हो गया, लेकिन सूची में कर्ज 5.47 लाख रुपए का बता दिया गया। जब किसान के बेटे ओमप्रकाश ने इसकी जानकारी बैंक में की तो उन्हें बताया गया कि ब्याज लगा हुआ है। इस पर उन्होंने ब्याज जोड़कर देखा तो वह सिर्फ 4.52 लाख रुपए की आया है। यानी यहां बैंक उससे 90 हजार रुपए ज्यादा बता रही है। इसकी शिकायत नोडल अधिकारी से की। साथ ही गुलाबी फॉर्म भरकर आपत्ति दर्ज की।

X
Sheour News - mp news debt waiver one thousand farmers protested most complaints to tell more debt
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें