भारतीय संस्कृति संस्कृत पर आधारित है, इसका ज्ञान आवश्यक है

Sheopur News - संस्कृत प्राचीन और वैदिक कालीन भाषा है। हमें इसका ज्ञान करना आवश्यक है। जिससे हम अपने वेदों में लिखे हुए ज्ञान को...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:41 AM IST
Sheour News - mp news indian culture is based on sanskrit its knowledge is essential
संस्कृत प्राचीन और वैदिक कालीन भाषा है। हमें इसका ज्ञान करना आवश्यक है। जिससे हम अपने वेदों में लिखे हुए ज्ञान को सहेज सकते हैं। इससे हम अपनी संस्कृति को पहचान सकते हैं। यह बात शनिवार को देर शाम पाली रोड स्थित आरएमआर कोचिंग क्लासेस में आयोजित संस्कृत संगोष्ठी में संस्कृत भारती के मध्यप्रांत सहमंत्री विष्णुनारायण तिवारी ने कही।

उन्होंने कहा कि संस्कृत हमारे ऋषि मुनियों की बोली जाने वाली भाषा है। उन्होंने हमारे अनेक ग्रंथों की रचना संस्कृत में ही की। संस्कृत का ज्ञान नहीं होने से ये ग्रंथ आज हमारी पहुंच में नहीं हैं। न ही इनका अनुवाद किया जा रहा है। जिससे यह हमारे लोगों के बीच में उपलब्ध नहीं हो सका है। इसलिए हमें संस्कृत का ज्ञान लेना आवश्यक है। जिस तरह अंग्रेजी सीखना लोगों को के लिए जरूरी है। वैसे ही संस्कृत का ज्ञान हमारे जीवन के लिए जरूरी है। जिससे हम अपने वैदिक ग्रंथों का ज्ञान आसानी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि संस्कृत में एक श्लोक है जिसका हिंदी अनुवाद है, भारतीय संस्कृति संस्कृत पर आधारित है। हमारे संस्कार संस्कृत में है जो कि संस्कृत सीखने के साथ ही सीखे जा सके हैं। सभी भाषाओं की वर्णमाला संस्कृत से ही ली गई है।

इस अवसर पर संस्कृत भारती के सुरेश चंद्र शर्मा, बृजेश शुक्ला, भुवनेश लाक्षाकार, शिवेंद्र परमार, अवनीश, शैलेंद्र, नरेंद्र शर्मा, माधवी, संध्या शर्मा, गजेंद्र रावत, हिमांशु आदि मौजूद रहे । इस अवसर पर कोचिंग संचालक जोधराज राठौर मौजूद रहे।

संस्कृत गोष्ठी को संबोधित करते अतिथि।

दस दिवसीय निशुल्क संभाषण शिविर 16 से

लोगों को संस्कृत सिखाने के लिए दस दिवसीय निशुल्क संभाषण शिविर का आयोजन पाली रोड स्थित आरएमआर कोचिंग संस्थान पर किया जाएगा। यह शिविर 16 जनवरी से शाम पांच बजे से शुरू किया जाएगा। यह पूरी तरह से निशुल्क होगा। साथ ही भोपाल में एक फरवरी से तीन फरवरी तक भोपाल में संस्कृत के प्रांतीय सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

X
Sheour News - mp news indian culture is based on sanskrit its knowledge is essential
COMMENT